भारतीय शेयर बाजार में हाहाकार, निफ्टी 7000 प्वाइंट से नीचे

0

मुंबई। भारतीय शेयर बाजार में हाहाकार मचा हुआ है, और ये भारी गिरावट की गिरफ्त में आ गया है। 12 मई 2014 के बाद निफ्टी पहली बार 7000 प्वाइंट के नीचे चला गया है। बाजार में चारों ओर त्राहिमाम की स्थिति है और बीएसई के सारे इंडेक्स गिरावट के लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। 9 मई 2014 के बाद सेंसेक्स भी 23000 प्वाइंट के नीचे चला गया है। बैंक निफ्टी में 500 अंकों से ज्यादा की गिरावट देखी जा रही है। साल 2016 में निफ्टी में 1000 अंकों की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। कमजोर तिमाही परिणामों के बाद बैंकिंग शेयरों में ताबड़तोड़ बिकवाली के चलते मुंबई शेयर बाजार आज 262 अंक लुढ़ककर 21 माह के निचले स्तर पर बंद हुआ। शेयर बाजार में हाहाकार की स्थिति पर उद्योगपतियों और जानकारों का कहना है कि यूरोपीय शेयर बाजारों में मजबूती और अमेरिकी बाजार से सकारात्मक संकेतों के बावजूद घरेलू शेयर बाजार बिकवाली में रहे।

ये भी पढ़ें – मुकेश बंसल ने छोड़ा फ्लिपकार्ट का साथ, अंकित नागोरी ने भी छोड़ी कंपनी

शेयर बाजार में हाहाकार 3

शेयर बाजार में हाहाकार के कई कारक बने

फिलहाल बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 722.84 अंक यानि 3.04 फीसदी की गिरावट के साथ 23036 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। वहीं एनएसई का 50 शेयर्स वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 217.90 अंक यानि 3.02 फीसदी की भारी गिरावट 6997 के स्तर पर आ गया। सेक्टोरियल आधार पर देखें तो रियल्टी शेयर सबसे ज्यादा 6.65 फीसदी की भारी गिरावट पर हैं और फाइनेंशियल सर्विसेज शेयर 4 फीसदी की जोरदार गिरावट पर कारोबार कर रहे थे। मेटल शेयर 4.57 फीसदी और इंफ्रा शेयर 3.55 फीसदी टूटकर कारोबार कर रहे थे। एनर्जी शेयर 3.73 फीसदी फिसले थे। बाजार की गिरावट में निफ्टी के शेयर्स में 50 में से केवल 2 शेयर तेजी के हरे निशान में हैं और बाकी 48 शेयर गिरावट के लाल निशान में कारोबार कर रहे थे। सिप्ला 1.20 फीसदी और आइडिया 1 फीसदी की तेजी के साथ कारोबार कर रहे थे।

दिग्गज गिरने वाले शेयरों में वेदांता 8.18 फीसदी और अदानी पोर्ट्स 6.33 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार कर रहे थे। हिंडाल्को में 5.68 फीसदी, बीएचईएल में 5.63 फीसदी और टाटा स्टील में 5.62 फीसदी की भारी गिरावट दर्ज की गयी।

 
ये भी पढ़ें – ग्राहकों को ज्यादा डिस्काउंट से फ्लिपकार्ट को करोड़ों का घाटा

शेयर बाजार में हाहाकार 2

सिट्रस एडवाइजर्स के संजय सिन्हा का कहना है कि शेयर बाजार में हाहाकार मचने के बाद अब जोरदार घबराहट का माहौल है। ये गिरावट बाजार के डर को दर्शा रही है। बैंकिंग सेक्टर के खराब नतीजों के बाद काफी कमजोरी और बिकवाली देखी गई। बैंकिंग और फाइनेंशियल शेयर्स का एक्सपोजर इंडेक्स पर ज्यादा है जिसके चलते बाजार ज्यादा टूट रहा है। ग्लोबल संकेत तो कमजोर हैं ही और घरेलू मोर्चे पर भी कोई सहारा नहीं मिल रहा है। इस समय निवेशक अच्छी वैल्यू वाले शेयरों को देख सकते हैं, हालांकि इनमें बड़ी गिरावट है लेकिन तेजी लौटने पर यही शेयर सबसे ज्य़ादा उछलेंगे।

मिडकैप शेयरों को देखें तो उनमें ज्यादा गिरावट नहीं है लार्जकैप शेयरों के मुकाबले। लार्जकैप कंपनियों के लिए खरीदारी का माहौल बन सकता है और इस समय बेहतरीन कंपनियों के शेयर काफी सस्ते में मिल रहे हैं तो निवेशक चुनिंदा स्तरों पर खरीदारी कर सकते हैं। अगर जोखिम उठाने की क्षमता कम है तो डिफेंसिव शेयरों में खरीदारी की जा सकती है और आईटी शेयर भी लिए जा सकते हैं। बाजार की रिकवरी में फार्मा और आईटी शेयर शानदार मुनाफा कमा सकते हैं।

loading...
शेयर करें