शैंपू बॉल्स के बारे में आप यकीनन नहीं जानते होंगे

0

एक लड़के ने वो कर दिखाया जो शायद किसी ने नहीं सोचा। बेंजामिन स्टर्न नाम के इस लड़के ने शैंपू बॉल्स बनाई है। इससे पर्यावरण को घातक प्लास्टिक से छुटकारा मिल गया है। एक बॉल को एक बार इस्तेमाल करके आप अपने बालों के मुलायम और रेशमी बना सकते हैं।

शैंपू बॉल्स
अपनी शैंपू बॉल्स के साथ नोहबू कंपनी के सीईओ बेंजामिन स्टर्न ( साभार द सन)

यह भी पढ़ें : आज प्रीति का रिसेप्शन सलमान के लिए खास, करेंगे दुनिया के सामने अपनी शादी का ऐलान !

इस लड़के ने शैंपू बॉल्स बनाकर कमाल कर दिया

थोड़ा सा पानी इस्तेमाल करके इन शैंपू बॉल्स को बालों पर इस्तेमाल किया जा सकता है। ये बॉल्स पूरी तरह से पर्यावरण के माफिक हैं। इनके इस्तेमाल से आप शैंपू फैलने, ट्रैवल के दौरान शैंपू लीक होने जैसी समस्याओं से बच सकते हैं।

शैंपू बॉल्स 1शैंपू बॉल्स के तीन वैरिएंट्स मौजूद

अमेरिका में फ्लोरिडा के रहने वाले यंग आंत्रप्रन्योर बेंजामिन स्टर्न ने इन बॉल्स को नोहबू शैंपू बॉल्स नाम दिया है। ये बॉल्स चेरी ब्लॉसम, स्मोकी सैंडलवुड और बिना किसी महक के उपलब्ध हैं।

इन बॉल्स को हाथ में लेकर आप थोड़ा सा पानी डालेंगे तो झाग बनने लगते हैं जिनकों आप अपने बालों पर लगा सकते हैं।

सिर्फ 14 साल की उम्र में आया आइडिया

नोहबू कंपनी बेंजामिन ने ही शुरू की है और अब वो इसके सीईओ हैं। बेंजामिन का कहना है कि जब वो केवल 14 साल का था तभी उसे शैंपू बॉल्स बनाने का आइडिया आया था। तभी से वो इस काम मे लगा था।

कई और प्रोडक्ट लॉन्च करने की तैयारी

शैंपू बॉल्स के बाद बेंजामिन अब कई और प्रोडक्ट्स को कुछ इसी तरह तैयार करना चाहता है ताकि पर्यावरण की रक्षा की जा सके। अब वो कंडिशनर, बॉडी-वॉश और शेविंग क्रीम वॉल्स बनाने की तैयारी में है।

अपने प्रोडक्ट को बनाने के लिए बेंजामिन ने एक बेवसाइट के लिए 18 हजार पॉन्ड का फंड जुटाया और अब जुलाई से इन बॉल्स की डिलीवरी शुरू कर दी जाएगी।

शैंपू बॉल्स से पर्यावरण को कोई खतरा नहीं

बेंजामिन का कहना है कि एक डॉक्यूमेंट्री देखने के बाद उसे काफी प्रेरणा मिली। इसमें दिखाया गया था कि प्लास्टिक हमारे समाज और पर्यावरण के लिए कितना बड़ा जहर है। मैंने देखा प्लास्टिक की एक बॉटल में कछुए का सिर फंस गया था। इसे देखकर मुझे बहुत बुरा लगा।

उसी समय मैंने ये फैसला कर लिया कि इस बारे में कुछ करना है। लोग शैंपू इस्तेमाल करके प्लास्टिक की बॉटल्स फेंक देते हैं जो पर्यावरण को नुकसान पहुंचती है। यही से मैंने नोहबू कंपनी बनाने की सोची। ये दुनिया की पहली ऐसी कंपनी है जो शैंपू की बॉल्स बना रही है।

जुलाई से मिलने लगेंगी बॉल्स

उसने बताया कि हमारा मकसद होटेल्स, पर्यावरणविदों, सैलानियों, सेना और गरीब मुल्कों की मदद करना है ताकि वो प्लास्टिक से बच सके। उन्होंने कहा कि जुलाई तक ये बॉल्स हमारी Nohbo बेवसाइट पर मिलने लगेंगी। फिलहाल ये Indiegogo पर मिल रही हैं।

loading...
शेयर करें