जानिए संजय दत्त की जेल से जल्दी निकलने की वजह

0

पुणे। बॉलीवुड के मुन्नाभाई बस कुछ ही दिनों में जेल से बाहर आने वाले हैं। संजय दत्त की फैमली और पूरा बॉलीवुड उनका बेसब्री से इंतजार कर रहा है। जेल से आते ही संजय शूटिंग में लग जाएंगे। उसके लिए मुन्नाभाई ने अभी से तैयारी भी शुरू कर दी है। संजय ने जेल में रह कर ही अपने डेली रूटीन से सिक्स पैक एब्‍स बना लिया है। संजय फरवरी के अंत तक जेल से बाहर आने वाले हैं।

संजय दत्त

संजय दत्त जेल में और क्या करते हैं 

मार्च 1993 में मुंबई बम धमाकों में अवैध रूप से हथियार रखने के आरोप में संजू पुणे की यरवदा जेल में सजा काट रहे हैं। संजय 21 मई 2013 को साढ़े तीन साल की सजा काटने के लिए जेल में बंद हुए थे। सजा पूरी होने से पहले ही उन्हें अब तक 293 दिनों की छुट्टी मिल चुकी है। उनके अच्छे बर्ताव के कारण अब उनकी सजा कम कर दी गई है। वैसे संजय को अब जेल के नियमों की आदत पड़ गई है। वह दोपहर के बाद का अपना वक्त योग करने और ध्यान करने में बिताते हैं।

संजय बनाते हैं कागज की थैलियां

संजय दत्त को जेल में कागज की थैलियां बनाने का काम दिया गया है। इस काम के लिए उन्हें रोज़ के हिसाब से 45 रुपए मिलते हैं। यही नहीं संजय जेल में अन्य कैदियों का खूब मनोरंजन भी करते हैं। संजय जेल के कम्युनिटी रेडियो पर रेडियो जॉकी बनते हैं। उन्हें जेल में खास सेल में रखा गया है। उन पर नजर रखने के लिए दो कर्मचारियों को अप्वाइंट किया गया है।

इसलिए मिली सजा में विशेष सहूलियत

उन्हें जेल से जल्दी छोड़ने और विशेष सहूलियत देने के सवाल पर महाराष्ट्र की जेल उप महानिरीक्षक (पश्चिमी संभाग) स्वाति साठे कहती हैं कि कैदियों द्वारा जेल के नियमों का पालन, हंगामा- गाली गलौज न करना, उनको जो दिया हुआ काम है उसे ईमानदारी से करना कैदियों का अच्छा बर्ताव माना जाता है। जेल सुपरिंटेंडेंट को अच्छे बर्ताव के कारण किसी कैदी की सजा कम करने का अधिकार है। संजय दत्त भी आम कैदी की तरह ही सजा काट रहे हैं, इसलिए उन्हें सजा में विशेष सहूलियत नहीं दी गई है।

 

loading...
शेयर करें