संसदीय सचिव मुद्दे पर सीएम केजरीवाल बोले- मोदी जी मुझे पीट लो…

0

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को निशाना बनाया है। उन्‍होंने AAP विधायकों को संसदीय सचिव मुद्दे को लेकर बीजेपी और कांग्रेस को खरी खरी सुनाई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार बेहतरीन काम कर रही है जिसकी चर्चा पूरे देश के साथ-साथ दुनिया में हो रही है। और इसी वजह से पीएम मोदी परेशान हैं।

ठुल्ला मामले

संसदीय सचिव मुद्दे को लेकर केजरीवाल का बयान

1997 में बीजेपी और बाद में शीला सरकार ने भी विधायकों को संसदीय सचिव बनाए।

शीला दीक्षित ने अजय माकन को संसदीय सचिव बनाया।

साहिब सिंह वर्मा ने 7 मई 1999 को नन्द किशोर को संसदीय सचिव बनाया था।

बीजेपी-कांग्रेस संसदीय सचिव बनाए तो संवैधानिक, और हम बनाएं तो अवैध करार।

मोहल्ला क्लीनिक हमारे संसदीय सचिव की मेहनत का नतीजा है।

हमारे संसदीय सचिव इंजीनियर और MBA हैं, दूसरी पार्टियों की तरह अनपढ़ नहीं।

दिल्ली सरकार की तारीफ देश साथ-साथ दुनियाभर में हो रही है।

पीएम मोदी हमेशा दिल्ली सरकार को अस्थिर करने में लगे रहते हैं।

पीएम मोदी से प्रार्थना है कि दिल्ली के लोगों को तंग न करें।

मोदी जी आपकी लड़ाई मुझसे से है, मुझे मार लो पीट लो, लेकिन दिल्ली वालों तरस करें।

बीजेपी और कांग्रेस दोनों AAP सरकार के पीछ पड़ी है।

बीजेपी अभी तक दिल्ली की हार को पचा नहीं पाई है।

संसदीय सचिव बनाए गए विधायकों को एक रुपये अतिरिक्त नहीं दिया जा रहा है।

विधायकों को दोहरे लाभ के पद पर बताना बीजेपी-कांग्रेस की साजिश है।

राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, नागालैंड, गुजरात समेत कई राज्यों में संसदीय का पद है।

विधेयक को राष्ट्रपति की ओर से लौटाने के पीछ गृह मंत्रालय का हाथ है।

मोदी सिर्फ दिल्ली के संसदीय सचिवों की ही सदस्यता क्यों रद्द करवाने पर तुले हैं।

पीएम मोदी न खुद काम करेंगे और ना ही किसी दूसरे को ही करने देंगे।

पंजाब में तो संसदीय सचिव को एक लाख रुपए तनख्वाह मिलती है. वो मोदी जी को दिखाई नहीं देता।

नरेंद्र मोदी को कांग्रेस से नहीं बल्कि आम आदमी पार्टी से लगता है डर।

बीजेपी कुछ भी कर ले, दिल्ली सरकार अपने लक्ष्य से नहीं भटकने वाली है।

loading...
शेयर करें