जल्द टीवी पर देख सकेंगे संस्कृत भाषा का चैनल, तेजी से चल रहे प्रयास

0

देहरादून। उत्तराखंड की पूर्व सत्तारूढ़ हरीश रावत सरकार ने जिस प्रस्ताव को बिलकुल भी तवज्जो नहीं दी थी, वह अब राज्य की नई त्रिवेंद्र सरकार पूरा करती दिख रही है। हम संस्कृत भाषा के उस टीवी चैनल की बात कर रहे हैं जिसे उत्तराखंड संस्कृत अकादमी ने रावत सरकार को प्रस्ताव भेजा था। त्रिवेंद्र सरकार ने अब इस टीवी चैनल को लेकर प्रयास तेज कर दिए है।

संस्कृत भाषा

संस्कृत भाषा में टीवी चैनल में सांस्कृतिक गतिविधियों का होगा प्रसारण

बताया जा रहा है कि अब इस टीवी चैनल के माध्यम से न सिर्फ संस्कृत भाषा को बढ़ावा दिया जाएगा बल्कि चारों धाम समेत सभी धार्मिक स्थलों व सांस्कृतिक गतिविधियों का सीधा प्रसारण होगा। मिली जानकारी के अनुसार, अकादमी पहले से ही संस्कृत भाषा में टीवी चैनल खोलने की तैयारी में थी।

संस्कृत भाषा

चैनल को हरीश रावत सरकार की अध्यक्षता में सैद्धांतिक सहमति भी मिल गई थी लेकिन सरकार की बेपरवाही के कारण बात आगे नहीं बढ़ सकी। बता दें, अकादमी के स्तर पर चैनल लाने के लिए 30 करोड़ के बजट का अनुमान लगाया गया है।

चैनल के लिए यह राशि हरिद्वार के कई साधू-संतों देंगे। योगगुरु बाबा रामदेव से भी चैनल के लिए वित्तीय मदद के संबंध में बात चल रही है। अकादमी के अनुसार, संस्कृत में टीवी चैनल को लेकर लंबे समय से प्रयास चल रहे हैं। इसकी डीपीआर के लिए टेंडर आमंत्रित कर लिए गए हैं। टेंडर की प्रक्रिया पूरी होने के बाद चयनित एजेंसी को डीपीआर बनाने का जिम्मा दिया जाएगा। डीपीआर तैयार होने के बाद यह प्रस्ताव कैबिनेट में लाया जाएगा।

loading...
शेयर करें