लिटिल मास्टर ने बनाया एक और कीर्तिमान, ऑटोबायोग्राफी को मिला ये बड़ा अवार्ड

0

नई दिल्ली। भारत के दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर की आत्मकथा ‘प्लेइंग इट माइ वे‘ को आत्मकथा श्रेणी में रेमंड क्रॉसवर्ड पोपुलर अवार्ड से नवाजा गया। इस पुरस्कार के लिए सचिन ने अपने प्रशंसकों का शुक्रिया अदा किया।

सचिन तेंदुलकर

सचिन तेंदुलकर की ऑटोबायोग्राफी ‘प्लेइंग इट माइ वे’ को मिला  रेमंड क्रॉसवर्ड अवार्ड 

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि मेरे क्रिकेट करियर के सफर का हिस्सा बनने के लिए मैं प्रशंसकों का पर्याप्त रूप से शुक्रिया अदा नहीं कर सकता। उनका समर्थन अतुलनीय है। ‘प्लेइंग इट माइ वे’ में मेरे क्रिकेट करियर और इससे बाहर के जीवन का उल्लेख है।

‘प्लेइंग इट माइ वे’ विमोचन के पहले दिन ही दोनों फिक्शन और नॉन-फिक्शन श्रेणियों में सबसे अधिक बिकने वाली किताब रही और इससे वह लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज हो गई है।

अपनी आत्मकथा ‘प्लेइंग इट माइ वे’ के प्रकाशक हेचेते और सह-लेखक बोरिया मजूमदार का शुक्रिया अदा करते हुए सचिन तेंदुलकर ने कहा कि मैं इस बात को जानकार काफी खुश हूं कि इस किताब ने 14वें रेमंड क्रॉसवर्ड बुक अवार्ड्स समारोह में पॉपुलर च्वाइस अवार्ड जीता है। मैं अपने प्रकाशक हेचेते इंडिया और बोरिया को इस बेहतरीन कार्य के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

loading...
शेयर करें