सपा और कांग्रेस का गठबंधन और हुआ पक्का, फंसा आखिरी पेंच भी सही किया गया

0

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सपा और कांग्रेस का गठबंधन हुआ था। चुनाव प्रचार में सभी पार्टियां लगी हैं। वहीं गुरुवार को सीएम अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने गठबंधन के आखिरी पेंच को भी सही कर लिया। सपा और कांग्रेस का गठबंधन 105 सीटों पर हुआ है। यानी 105 सीटों पर कांग्रेस लड़ेगी तो वहीं समाजवादी पार्टी 298 सीटों पर अमने उम्मीदवार उतारेगी।

akhilesh-rahul

सपा और कांग्रेस का गठबंधन में अमेठी था बड़ा पेंच

इस फैसले के बाद भी अमेठी और रायबरेली की सीटों पर पेंच फंसा था। गुरुवार को इन दो जिलों की सीटों पर भी फैसला हो गया। सपा ने अमेठी और रायबरेली की 10 सीटों में आठ सीटें कांग्रेस को दे दीं हैं।

अमेठी और डलमऊ सीट सपा के पास

अमेठी जिले की अमेठी विधानसभा सीट और रायबरेली की डलमऊ सीट छोड़कर बाकी सीटें राहुल गांधी के हिस्से आ गईं हैं। सूत्रों के मुताबिक गठबंधन के बाद हुई अखिलेश-राहुल की प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल ने पर्चे पर लिख कर अखिलेश से अमेठी और रायबरेली की सीटें मांगी थीं।

गायत्री प्रजापति

गायत्री प्रजापति का टिकट रहा बरकरार

अमेठी सीट से अखिलेश के परिवहन मंत्री गायत्री प्रजापति चुनाव लड़ते हैं। समाजवादी परिवार में मची अंतर्कलह में गायत्री प्रजापति अहम धुरी माने जाते हैं। जानकारों की मानें तो सीटों का बंटवारा भले ही हो गया हो लेकिन पेंच पूरी तरह से निकल गया यह अभी नहीं कहा जा सकता। अमेठी से कांग्रेस के कद्दावर नेता संजय सिंह की पत्नी अमिता सिंह भी चुनाव लड़ना चाहतीं हैं। लेकिन अखिलेश इस सीट को अखिलेश गायत्री प्रजापति के लिए बचा कर रखना चाहते हैं।

loading...
शेयर करें