मुलायम में दिखा भाई प्रेम कहा, शिवपाल न कैबिनेट छोड़ेंगे और न ही प्रदेश अध्यक्ष का पद

0

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव अपने परिवार को लेकर आजकल काफी परेशान हैं। एकतरफ बेटा है तो दूसरी तरफ छोटा भाई। लेकिन मुलायम सिंह डैमेज कंट्रोल में लगे हुए हैं। वे चाहते हैं कि परिवार में फूट न पड़े। वहीं सपा का झगड़ा विपक्षी पार्टियों के लिए एक मुद्दा बन गया है।

सपा का झगड़ा

सपा का झगड़ा निपटाएंगे मुलायम सिंह यादव

सपा सुप्रीमो दिल्ली में थे और शिवपाल यादव उनसे मिलने भी गए थे। शिवपाल का मुख्य् मुद्दा सपा का झगड़ा था। उसी को खत्म करने के लिए मुलायम से मंत्रणा करने गए थे। मुलाकाम के बाद मुलायम सिंह ने कहा कि शिवपाल सपा के प्रदेश अध्य क्ष बने रहेंगे और अखिलेश मंत्रिमंडल में भी वे शामिल होंगे।

शिवपाल की नाराजगी दूर हुई

अपने इस फैसले से मुलायम ने शिवपाल की नाराजगी दूर करने की पूरी कोशि‍श की है। मुलायम ने कहा कि उन्होंने यह फैसला भाई रामगोपाल यादव के साथ मिलकर किया है। इसके साथ मुलायम यह कहना भी नहीं भूले कि पार्टी अध्यक्ष मैं हूं। सपा सुप्रीमो से जब पूछा गया कि क्या अखिलेश आपसे पूछकर फैसले लेते हैं तो उन्होंने जवाब दिया कि मैं पार्टी का अध्यक्ष हूं।

नेताजी ने कहा, शिवपाल नाराज नहीं

शिवपाल की नाराजगी दूर होने के सवाल पर मुलायम ने कहा कि वो नाराज नहीं है। हमेशा हंसता रहता है। शिवपाल यादव संगठन संभालेंगे, उन्हें यूपी का अध्यक्ष बना दिया है। मुलायम ने कहा कि वे लखनऊ जाकर इस बारे में मीडिया से बात करेंगे।

शिवपाल यादव

मेरे लिए नेताजी का आदेश सबसे बड़ा: शिवपाल

शिवपाल यादव ने पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव से दिल्ली में मुलाकात की थी और अपने रुख में नरमी दिखाई थी। शिवपाल ने कहा कि वो लखनऊ में अखिलेश से मुलाकात करेंगे। लेकिन उन्होंने एक बार फिर कहा कि पार्टी में एक ही बॉस है और वो हैं मुलायम सिंह यादव।

ramgopal-yadav_

अखिलेश को मनाने पहुंचे रामगोपाल यादव

गुरुवार को रामगोपाल यादव लखनऊ में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने उनके घर पहुंचे। जब से सपा में अंदरूनी कलह शुरू हुई है, यह पहला मौका है कि परिवार का कोई सदस्य अखिलेश से मिलने पहुंचा। रामगोपाल यादव ने कहा कि कोई संकट नहीं है।

loading...
शेयर करें