अपने फायदे के लिए दुश्मनों को भी राखी बांधती हैं बहनजी : अखिलेश यादव

0

लखनऊ| उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान मुस्लिम मतदाताओं के बिखराव को लेकर मुस्लिम समुदाय को आगाह करने वाली बसपा की मुखिया मायावती को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को निशाने पर लेते हुए कहा कि सभी लोग उनकी हकीकत को जानते हैं कि निजी फायदे के लिए उन्होंने किसे राखी बांधी थी। अखिलेश ने यहां स्मार्टफोन योजना के पंजीयन के वेब पोर्टल का उद्घाटन किया।

सपा की मुखिया मायावती

बसपा की मुखिया मायावती पर अखिलेश ने लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया

इस मौके पर उन्होंने कहा, “मायावती कहती हैं कि सपा के लोगों में बंटवारा है, लेकिन मुस्लिम भाई जानते हैं कि सपा उनके कितने करीब है। हम लोग भूले नहीं हैं। अभी, वह रक्षाबंधन वाला त्यौहार कोई नहीं भूला है कि किसने किसको राखी बांधी थी। वह गुजरात वाली बातें नहीं भूले हैं कि कौन जाकर किसके लिए वोट मांगकर आया था।”

अखिलेश ने चुनौती देते हुए कहा कि क्या मायावती जी यह दावा कर सकती हैं कि कल को अगर प्रदेश में किसी की बहुमत की सरकार नहीं बनी तो क्या भाजपा और बसपा मिलकर सरकार नहीं बना लेंगी। उत्तर प्रदेश की जनता कैसे भरोसा करेगी।

बसपा की मुखिया मायावती पर कटाक्ष करते हुए अखिलेश ने कहा, “लोग कह रहे हैं कि वह जनता को नकदी देंगी। अरे आपका तो नकदी का पुराना शौक है। उत्तर प्रदेश के लोग अभी तक नहीं भूले हैं कि कैसे सीएमओ और एक इंजीनियर को मार दिया गया था। जन्मदिन के नाम पर कहां वसूली नहीं होती है। आपने अपने ही लोगों को गुमराह किया है और अब प्रदेश को गुमराह करना चाहती हैं।”

उल्लेखनीय है कि बसपा की मुखिया मायावती  ने रविवार को अपनी रैली में मुस्लिम मतदाताओं से बसपा के पक्ष में वोट देने का आग्रह करते हुए कहा था कि समाजवादी पार्टी में बंटवारा हो गया है और वे सपा और कांग्रेस को वोट देकर उसे बेकार ना करें, क्योंकि इससे भाजपा को ही फायदा होगा।

मुखिया मायावती पर हमले जारी रखते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “वह बसपा की मुखिया मायावती को बुआ कहते थे लेकिन उन्हें बुआ कहने से तकलीफ है। मैंने उन्हीं के निवेदन पर उन्हें बुआ कहना छोड़ दिया है।”

उत्तर प्रदेश के पुनर्गठन के मायावती के बयान पर तीखा प्रहार करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “वह कहती हैं कि प्रदेश बंट जाना चाहिए, कल को यह भी कहेंगी कि देश बहुत बड़ा है, देश भी बंट जाना चाहिए। हम तो कहते हैं कि जो प्रदेश को बांटने की बात कर रहे हैं, वे स्वार्थ के लिए ये भी कह देंगे कि देश को भी बांट दो।”

अखिलेश ने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि दूसरी तरफ डिजिटल इंडिया के लोग भी आ रहे होंगे। हमने मुजफ्फरनगर, गाजीपुर व बुंदेलखंड में लैपटॉप वितरण के दौरान नौजवानों से पूछा तो उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग बहुत झूठ बोलते हैं। अच्छे दिन लाने की बात की थी, लेकिन वे नहीं आए।

loading...
शेयर करें