सुशासन बाबू के राज में मिली 356 कार्टर विदेशी शराब, सात तस्कर गिरफ्तार

0

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य को शराबमुक्त बनाने के लिए शराबबंदी के का फैसला तो सुना दिया लेकिन सूबे में यह फैसला लागू होते ही शराब तस्कर भी पैदा हो गए हैं। इस बार कुछ ऐसे ही तस्कर सीवान और समस्तीपुर जिले से गिरफ्तार किये गए हैं जिनके पास से भारी मात्रा में शराब बरामद हुई है।  सीवान और समस्तीपुर जिले के अलग-अलग क्षेत्रों से शुक्रवार को 356 कार्टन विदेशी शराब जब्त की गई। इस मामले में सात तस्करों को गिरफ्तार किया गया है।

समस्तीपुर जिले

समस्तीपुर जिले में ट्रक से हो रही शराब की तस्करी 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सीवान जिले की बड़हरिया पुलिस को नए साल के जश्न में इस्तेमाल के लिए उत्तर प्रदेश से भारी मात्रा में शराब लाए जाने की सूचना मिली थी। इस सूचना के आधार पर शुक्रवार की सुबह शक होने पर पुलिस ने केले से लदे एक पिकअप वैन का पीछा किया। वैन का चालक कोहरे का फायदा उठाते हुए रसूलपुर के नजदीक पिकअप वैन छोड़कर फरार हो गया। पुलिस ने पिकअप वैन से 160 कार्टन शराब जब्त की है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। सभी शराब की बोतलों पर उत्तर प्रदेश उत्पाद विभाग का निशान लगा हुआ है।

इधर, समस्तीपुर जिले के हसनपुर थाना क्षेत्र में शुक्रवार तड़के एक ट्रक से भारी मात्रा में विदेशी शराब के साथ सात तस्करों को गिरफ्तार किया गया।  समस्तीपुर के पुलिस अधीक्षक नवल किशोर सिंह ने आईएएनएस को बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर रामपुर गांव के निकट एक ट्रक से 196 कर्टन में रखे 5,069 विदेशी शराब की बोतलें जब्त की गईं।

उन्होंने बताया कि ट्रक के साथ ही एक स्विट कार को भी जब्त किया गया है, जिसमें सात तस्कर सवार थे। सिंह ने बताया कि पूछताछ के दौरान तस्करों ने बताया कि शराब की सभी बोतलें झारखंड से बिहार लाई जा रही थीं। जब्त शराब की कीमत 10 लाख रुपये से अधिक बताई जा रही है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है तथा अन्य तस्करों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।  उल्लेखनीय है कि अप्रैल महीने से बिहार में शराब पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

loading...
शेयर करें