उप-राष्ट्रपति की सुरक्षा में ‘कोताही’ पर न्यायालय जाएंगे समाजसेवी

लखनऊ। आरटीआई भवन के उद्घाटन के लिए बीते साल जुलाई में लखनऊ आने वाले उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी की सुरक्षा से संबंधित गोपनीय सूचना कथित रूप से सार्वजनिक कर कथित रूप से उप राष्ट्रपति की सुरक्षा को खतरे में डालने के मामले में उत्तर प्रदेश के मुख्य सूचना आयुक्त जावेद उस्मानी चौतरफा फंसते नजर आ रहे हैं। एक समाजसेवी उर्वशी ने कहा कि वह जावेद उस्मानी के खिलाफ न्यायालय जाएंगी।

समाजसेविका

समाजसेविका ने मुख्य सूचना आयुक्त को घेरने में जुटी

समाजसेविका और आरटीआई कार्यकर्ता ने बीते जनवरी माह में इस मामले की एफआईआर दर्ज कर विधिक कार्यवाही करने की तहरीर लखनऊ के थाना विभूतिखंड को दी थी। थाने द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने पर लखनऊ की एसएसपी को भी पत्र लिखा था, जिसका संज्ञान लेकर उप राष्ट्रपति सचिवालय ने सूबे के मुख्य सचिव को उर्वशी की शिकायत के उचित ध्यानाकर्षण के लिए पत्र लिखा।

उप राष्ट्रपति सचिवालय ने इस पत्र की प्रति उप्र के मुख्य सूचना आयुक्त और उर्वशी को भी प्रेषित की है। इस मामले में उर्वशी ने बताया कि जावेद उस्मानी ने बीते जुलाई माह में आरटीआई भवन के उद्घाटन के लिए आने वाले उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी की सुरक्षा से संबंधित गोपनीय सूचना अप्रैल माह में ही सोशल मीडिया फेसबुक पर सार्वजनिक कर उप राष्ट्रपति की सुरक्षा को खतरे में डाल दिया था।
उर्वशी ने बताया कि वे इस मामले में अब न्यायालय के माध्यम से उस्मानी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएंगी।

Edited by-shailendra verma

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button