समाजसेवी कैलाश सत्यार्थी के घर से नोबेल पुरस्कार उड़ा ले गए चोर

नई दिल्ली। समाजसेवी कैलाश सत्यार्थी के अपार्टमेंट से चोरों ने उनके नोबेल चुरा लिया है। इस घटना के बाद उनके बेटे ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है। खबरों के मुताबिक, सत्यार्थी का नोबेल पुरुस्कार राष्ट्रपति भवन में रखा गया है। चोर उनके अवॉर्ड की रेप्लिका चुरा ले गए। अवॉर्ड पाने के बाद सत्यार्थी ने अपना यह अचीवमेंट देश को समर्पित कर दिया था। जिसके बाद उनका नोबेल प्राइज राष्ट्रपति भवन में सुरक्षित है।

समाजसेवी कैलाश सत्यार्थी

समाजसेवी कैलाश सत्यार्थी के बेटे ने दर्ज कराई एफआईआर

बीती रात नोबेल पुरस्कार विजेता और ऐक्टिविस्ट कैलाश सत्यार्थी के घर चोरी का मामला सामने आया है। बहुत-सी महंगी चीजों के साथ ही चोर नोबेल पुरस्कार का सर्टिफिकेट भी चुरा ले गए। सूत्रों के मुताबिक, सत्यार्थी किसी कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका गए हुए हैं। कैलाश सत्यार्थी कालकाजी स्थित अरावली अपार्टमेंट में रहते हैं।

चोरों ने घर का ताला तोड़कर जूलरी और दूसरी महंगी वस्तुओं सहित नोबेल प्राइज की रेप्लिका भी चुरा ली। कैलाश सत्यार्थी का भारत का वह नाम है, जो पिछले लगभग 60 वर्षों से देश के बच्चों का बचपन बचाने के लिए दिन-रात मेहनत कर रहे हैं।

अपनी अथक मेहनत के बल पर सत्यार्थी अब तक 80 हजार से अधिक बच्चों का जीवन बचा चुके हैं। इनका जन्म मध्य प्रदेश के विदिशा में 1954 में हुआ। कैलाश सत्यार्थी को मलाला युसुफ़ज़ई के साथ 2014 का शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया था, जिसकी रेप्लिका चोरों ने चुरा ली।

Edited by- Jitendra Nishad

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button