सवेरे उठते ही हाथ में लेते हैं मोबाइल तो यह खबर सिर्फ आप के लिए

0

नई दिल्ली। दुनिया में ऐसे लोगों की संख्‍या कम नहीं होगी जो सवेरे उठते मोबाइल चेक करते हैं। लोग हड़बड़ी में अपने मोबाइल को ऐसे ढ़ूंढते हैं जैसे कोई विपत्ति आ गई हो। अगर आपको यह बीमारी है तो सुधर जाइये वरना बहुत पछताना पड़ेगा।    

 सवेरे उठते मोबाइल चेक

क्‍या कहती है सवेरे उठते मोबाइल चेक करने की रिसर्च रिपोर्ट

सवेरे उठते मोबाइल चेक करने को लेकर एक सर्वे किया गया है। किए गए सर्वेके मुताबिक, स्मार्टफोन का उपयोग करने वाले अधिकतर लोगों के लिए उनकी रोजमर्रा की जिंदगी का पहला और आखिरी काम फोन देखना ही होता है। वह उठने के बाद सबसे पहला काम और सोने से पहले एकदम आखिरी काम फोन को देखने का ही करते हैं।

96 पर्सेंट लोग उठते ही हाथ में लेते हैं मोबाइल

डेलॉइट ग्लोबल मोबाइल कंज्यूमर सर्वे-2016 के अनुसार सर्वे में शामिल 61 प्रतिशत लोगों का कहना है कि सोकर उठने के बाद वह मात्र पांच मिनट के भीतर ही अपने फोन को देखते चेक करते हैं। लेकिन इसी अवधि को 30 मिनट तक करने पर यह प्रतिशत 88 हो जाता है। इसी प्रकार हर सुबह सोकर उठने के एक घंटे के भीतर करीब 96 प्रतिशत लोग अपना फोन चेक कर लेते हैं।

सोने से 15 मिनट पहले तक करते हैं मोबाइल चेक

सर्वे में इस बात को लेकर भी हैरानी व्‍यक्‍त की गई है कि सोने से 15 मिनट पहले तक लोग फोन चेक करते हैं।  सर्वे में शामिल 74 प्रतिशत लोगों का कहना है कि सोने से 15 मिनट पहले वह आखिरी काम अपने फोन को चेक करने का करते हैं।

स्मार्टफोन का बढ़ा है उपयोग

डेलॉइट तोउचे तोमास्तु इंडिया में सहयोगी नीरज जैन ने कहा कि इस अध्ययन से पता चलता है कि स्मार्टफोन का उपयोग बढ़ा है। यह अधिकतर लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी में एक व्यवधान के तौर पर भी देखा जाता है। यह अध्ययन मोबाइल फोन का किस तरह उपयोग किया जाता है उसके बारे में बहुत कुछ बताता है।

loading...
शेयर करें