निर्वाचन आयोग ने साक्षी महाराज के बयान की निंदा की

0

नई दिल्ली। निर्वाचन आयोग ने गुरुवार को भाजपा सांसद साक्षी महाराज के उस विवादास्पद बयान की निंदा की, जिसमें उन्होंने भारत की तेजी से बढ़ रही जनसंख्या के लिए ‘मुसलमानों’ को दोषी ठहराया था। आयोग ने कहा कि भाजपा सांसद ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है और उत्तर प्रदेश के सांसद की इस दलील को खारिज कर दिया कि उन्होंने बयान सार्वजनिक या चुनावी सभा में नहीं दिया, इसलिए यह चुनाव आचार संहिता के दायरे में नहीं आता है।

सांसद साक्षी महाराज

सांसद साक्षी महाराज को आचार संहिता का उल्लंघन करने पर चेतावनी दी

चुनाव आयोग ने कहा, “आयोग ने आपके जवाब पर विचार किया और यह संतोषजनक नहीं है। धर्म के आधार पर चुनाव के संबंध में समाज के विभिन्न वर्गो के बीच शत्रुता को बढ़ावा देने के प्रभाव वाला कोई भी बयान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है।” सांसद साक्षी महाराज की निंदा करते हुए आयोग ने आगे आचार संहिता का उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी। मेरठ में संतों की एक सभा को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के नेता ने परोक्ष रूप से मुसलमानों को जनसंख्या वृद्धि के लिए जिम्मेदार ठहराया।

उन्होंने 6 जनवरी को अपने संबोधन में कहा था, “जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है और इसलिए देश की समस्याएं भी बढ़ रही हैं, लेकिन हिंदू इसके लिए जिम्मेदार नहीं हैं। इसके लिए वे जिम्मेदार हैं, जो चार पत्नी और 40 बच्चे की बात करते हैं।” निर्वाचन आयोग द्वारा नोटिस जारी होने के बाद मेरठ पुलिस ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया। उत्तर प्रदेश में उन्नाव के लोकसभा सदस्य ने कई बार अपनी टिप्पणियों का बचाव किया है। उन्होंने यह दावा किया कि उन्होंने किसी भी धार्मिक समुदाय का नाम नहीं लिया था।

loading...
शेयर करें