साउथ चाइना सी में चीन ने उतारा मिलिट्री एयरक्राफ्ट

0

बीजिंग। चीन ने पहली बार साउथ चाइना सी में अपनी सेना का जहाज उतारा है। साउथ चाइना सी में चीन ने तीन हजार मीटर लंबा रनवे बनाया है। इस रनवे को बनाने में चीन को एक साल से ज्‍यादा का समय लगा है।

साउथ चाइना सी

साउथ चाइना सी में चीन करेगा जहाजों का परीक्षण

साउथ चाइना सी में जनवरी से चीन अपने जहाजों का परीक्षण करेगा। वहीं चीन के रनवे बनाने वर विश्‍व के कुछ देशों को यह डर भी सता रहा है कि कहीं चीन फाइटर जेट का बेस न बना लें। कुछ दिनों पहले यह खबर छपी कि साउथ चाइना सी के ऊपर पैट्रोलिंग कर रहे एक मिलिट्री एयरक्राफ्ट को फेयरी क्रॉस रीफ पर लैंडिंग की इमरजेंसी कॉल मिली। तीन बीमार मजदूरों को निकालने के लिए ये लैंडिंग करवाई गई। मिलिट्री एयरक्राफ्ट से इन्हें इलाज के लिए हेनान आइलैंड पहुंचाया गया।

एयरक्राफ्ट की फोटो भी छपी

आइलैंड पर खड़े एक एयरक्राफ्ट की फोटो भी छापी गई है। यह पहली बार है जब चाइना मिलिट्री ने सार्वजनिक रूप से फेयरी क्रॉस रीफ पर एयरक्राफ्ट लैंडिंग की बात मानी है।

इस रनवे पर लॉन्ग रेंज बॉम्बर जेट जैसे जेट कर सकते हैं टेकऑफ

मिलिट्री एक्सपर्ट के हवाले यह दावा भी किया गया कि रीफ का एयरफील्ड मिलिट्री स्टैंडर्ड के हिसाब से पूरी तरह तैयार है और युद्ध की स्थिति में इसे फाइटर जेट का बेस बनाया जा सकता है। एयरफील्ड इतना लंबा है कि इसपर लॉन्ग रेंज बॉम्बर जेट और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट के अलावा चीन के आधुनिक जेट भी लैंड और टेकऑफ कर सकते हैं।

कई देश कर चुके हैं दावा

साउथ चाइना सी के रास्ते लगभग पांच ट्रिलियन डॉलर का व्यापार होता है। साउथ चाइना सी पर वियतनाम, ब्रुनेई, ताइवान, मलेशिया और फिलीपींस भी अपना दावा करते हैं।

loading...
शेयर करें