साक्षी महाराज पर छाए संकट के बादल, चुनाव आयोग ने थमा दी कारण बताओ नोटिस

0

नई दिल्ली: भाजपा के फायरब्रांड नेता और उन्नाव के सांसद साक्षी महाराज बीते दिनों मेरठ में दिए गए अपने विवादित बयान को लेकर मुसीबतों में घिरते नजर आ रहे हैं। उनके इस बयान के बाद बीते दिन जहां विरोधी दलों ने उनपर जमकर हमला बोला था। वहीं अब चुनाव आयोग ने उनको कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। आपको बता दें कि बीते दिन उन्होंने बिना मुस्लिम समुदाय का नाम लिए कहा था कि देश की जनसंख्या के लिए वो जिम्मेदार हैं जिनकी चार बीवियां और 40 बच्चे हैं।

साक्षी महाराज

साक्षी महाराज को चुनाव आयोग ने थमा दी कारण बताऊ नोटिस 

साक्षी महाराज के इस बयान के खिलाफ चुनाव आयोग ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी की है। आयोग का कहना है कि साक्षी की यह टिप्पणी प्रथम दृष्ट्या आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। आयोग ने साक्षी महाराज को जवाब देने के लिए बुधवार सुबह तक का समय दिया है। आयोग ने उनसे पूछा है कि आखिर उनपर कार्रवाई क्यों न की जाए।

कल रात आयोग की ओर से जारी किए गए नोटिस में कहा गया कि प्रथम दृष्ट्या उन्होंने चार जनवरी से लागू आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है। यह आचार संहिता उत्तरप्रदेश समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की घोषणा के बाद लागू की गई है।

नोटिस में कहा गया कि उनकी टिप्पणियों में समाज के विभिन्न वर्गों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देने का प्रभाव है। पिछले सप्ताह संत सम्मेलन में बोलते हुए साक्षी महाराज ने कहा था कि देश में समस्याएं खड़ी हो रही हैं जनसंख्या के कारण। उसके लिए हिंदू जिम्मेदार नहीं हैं। जिम्मेदार तो वो हैं जो चार बीवियों और चालीस बच्चों की बातें करते हैं।

उन्होंने यह भी कहा था कि पशुओं को मारकर जो धन कमाया जा रहा है, उसका इस्तेमाल आतंकवाद के वित्तपोषण में किया जा रहा है। हालांकि बयान को लेकर विपक्षी दलों द्वारा किये जा रहे हमले के बाद साक्षी महाराज को अपने इस बयान पर सफाई भी देनी पड़ी थी. उन्होंने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा था कि उन्होंने किसी भी धर्म या समुदाय का नाम नहीं लिया।

भाजपा के इस सांसद का यह बयान तब आया है, जब कुछ ही दिन पहले उच्चतम न्यायालय यह फैसला सुना चुका है कि राजनीतिक दल और उम्मीदवार धर्म या जाति के आधार पर वोट नहीं मांग सकते। याद रहे कि 11 फरवरी को उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान का पहला चरण होगा।

 

loading...
शेयर करें