‘भारत माता की जय’ वाले फतवे पर बीजेपी नेता ने दिया जवाब

0

नई दिल्ली। भारत माता की जय को लेकर विवाद जारी है। ये विवाद असदुद्दीन ओवैसी के बयान के बाद से शुरु हुआ था। ओवैसी ने कहा था कि चाहे मेरी गर्दन पर कोई छुरी क्यों न रख दे तो भी मैं भारत माता की जया नहीं बोलूंगा। अब दारुल उलूम ने भारत माता की जय बोलने पर फतवा जारी किया है। दारुल उलूम ने कहा कि जिस तरह वंदे मातरम नहीं बोल सकते उसी तरह भारत माता की जय भी नहीं बोल सकते। जिसके बाद इस फतवे की केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने निंदा की है।

साध्वी निरंजन ज्योति

साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा, हम पाकिस्तान में नहीं रह रहे

साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि ‘भारत माता की जय’ के खिलाफ दारुल उलूम का फतवा शहीदों का अपमान है, वह इस फतवे की निंदा करती हैं। उन्होंने कहा कि हम जिस देश में रहते हैं उसके बारे में जयकार करने में क्या समस्या है। साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि ‘भारत माता की जय’ का नारा न लगाना देश को बांटने का प्रयास है। उन्होंने कहा कि हम पाकिस्तान में नहीं रह रहे हैं। इसी प्रकार पूर्व आईपीएस अधिकारी किरण बेदी ने भी नारे का समर्थन करते हुए शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि उन्हे इस नारे में कोई विरोधाभास नहीं दिखता। यह एक आंतरिक भावना है। यह अंदर से महसूस होती है। यह आपके भीतर हो सकती है या नही।

साध्वी निरंजन ज्योति

क्या कहा था दारूल उलूम ने

दारूल उलूम देवबंद ने भारत माता की जय के खिलाफ फतवा देते हुए कहा कि इंसान ही इंसान को जन्म दे सकता है, तो धरती मां कैसे हो सकती है। संस्था ने ये भी कहा कि मुसलमान अल्लाह के अलावा किसी की पूजा नहीं कर सकता तो भारत को देवी कैसे माने। फ़तवे में कहा गया है कि मुसलमानों को खुद को इस नारे से अलग कर लेना चाहिए, कई मुफ़्तियों की खंडपीठ ने ये फ़तवा दिया है।

loading...
शेयर करें