IPL
IPL

जब सिंगर अभिजीत पहुंचे अपने दोस्‍त की झोपड़ी पर

कानपुर। कानपुर शहर में कृष्ण सुदामा की दोस्ती उस समय देखने को मिली जब सिंगर अभिजीत अपने बचपन के दोस्त कल्लू के खोली में जा पंहुचे। सो रहे कल्लू को जब सिंगर ने आवाज दी तो उसे लगा कि मैं सपना देख रहा हूं। नींद खुली तो सपना सच था और सामने था अपने बचपन का दोस्त अभिजीत। दोनों गले मिलते हुए उस मकान में गए जहां सिंगर ने अपना बचपन व्यतीत किया था।

सिंगर अभिजीत

सिंगर अभिजीत के दोस्‍त हैं कल्‍लू

शनिवार को लगभग पौने दो बजे नजीराबाद थाना क्षेत्र के आर.के. नगर में सुलभ शौचालय के पास कल्लू की खोली के बाहर मुंबई की लग्जरी कार रूकी, तो लोग अचंभित हो गए कि कौन कल्लू के पास इतना बड़ा आदमी आया है। गाडी रुकते ही सिंगर अभिजीत भट्टाचार्या कल्लू भाई-कल्लू भाई की आवाज लगाने लगा।

यह देख उसके बच्चे बाहर निकले और अपने अंकल को देख तत्काल सो रहे पापा को जगाया। दोनों गले मिले और कुछ ही कदम पर अपने पुराने मकान मालिक के घर जा पंहुचे। मकान मालिक उमेश मिश्रा सिंगर को देख दौड़कर गले लगा लिया, और तीनों ने एक साथ फोटो खिचवाई। लगभग आधा घंटा तक वहां रूककर पुरानी यादों में तीनों खोए रहे। कभी ठहाका मार कर हसते तो कभी पुरानी बातों को लेकर एक-दूसरे की खिचाई करते। कुछ देर तक साथ रहने के बाद सिंगर अपने रिश्तेदारों के यहां चले गए।

यार कल्लू तू बूढ़ा हो गया

अपने बचपन के दोस्त कल्लू के सफेद बाल देख सिंगर अभिजीत ने कहा कि यार तू तो बूढ़ा हो गया है और फिर गले मिल पड़े। इस पर कल्लू ने कहा कि भाई आप ऐसी दुनिया में हो जहां बूढ़ा भी जवान लगने लगता है, और यहां तो जवान भी जल्द बूढ़ा हो जाता है।

डिब्बे की धुन पर गाता था अभिजीत

कल्लू ने बताया कि बचपन से ही अभिजीत गाने के लिए लालायित रहता था। जब माता-पिता ढोलक हारमोनियम छुपा कर रख देते थे तो कहता था यार तो डिब्बा बजा मै गाना गांऊगां। मैं डिब्बे से धुन निकालता था वह गाता था। कल्लू ने बताया कि उस समय सबसे ज्यादा गाडी बुला रही है गाना गाता था।

स्टेज शो में एक साथ कर चुके हैं काम

सिंगर के दोस्त कल्लू के अनुसार हम दोनों का बचपन से संगीत में रूचि थी और धीरे-धीरे स्टेज शो का भी काम मिलने लगा था। मैं क्रेनेट बजाता था और वह गाना गाता था। उसको अच्छा प्लेटफार्म मिल गया और वह मुंबई जाकर बड़ा सिंगर बन गया।

दोस्त और करे तरक्की

मजदूरी कर जीवन व्यतीत करने वाला कल्लू को कोई मलाल नहीं है कि मेरा दोस्त बड़ा स्टार हो गया है। उसने बताया कि यह तो अपनी-अपनी किस्मत है, मेरे लिए तो यही सबसे बड़ी खुशी है कि अभिजीत बड़ा स्टार होते हुए भी मुझे गले लगा रहा है। उसने कहा कि मैं तो यही दुआ करता हूॅं कि दोस्त और तरक्की करे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button