सिंहस्थ वैचारिक महाकुंभ का आज होगा समापन, मोदी करेंगे कई गंभीर मुद्दों पर बात

0

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले के ग्राम निनौरा में आस्था के महापर्व सिंहस्थ महाकुंभ के दौरान हो रहे तीन-दिवसीय सिंहस्थ वैचारिक महाकुंभ  का समापन 14 मई यानि आज होगा। समापन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विचार महाकुंभ के सार्वभौम संदेश को जारी करेंगे।समापन समारोह में श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना सहित पांच देशों के प्रतिनिधि शामिल होंगे, वहीं भारत के चार अलग-अलग राज्य के मुख्यमंत्री भी बतौर अतिथि विशेष रूप से मौजूद रहेंगे।

सिंहस्थ वैचारिक महाकुंभ

सिंहस्थ वैचारिक महाकुंभ कार्यक्रम में इन मुद्दों पर होगी बात

जानकारी के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी 14 मई को दिल्ली से सुबह 10:30 बजे इंदौर पहुचेंगे फिर वहां से  प्रधानमंत्री उज्जैन जिले के निनौरा पहुंचेंगे। वे वहां अंतर्राष्ट्रीय विचार कुंभ में शामिल होंगे और विश्व के नाम सिंहस्थ के सार्वभौम अमृत-संदेश को जारी करेंगे। जिसमें मानव मूल्यों के अलावा कृषि, स्वच्छता और ग्लोबल वार्मिंग जैसी समस्यों से निपटने पर जोर होगा। वे उज्जैन के कार्यक्रमों में हिस्सा लेकर दोपहर 1.35 मिनट पर इंदौर से दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम 

प्रधानमंत्री के मध्य प्रदेश प्रवास के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। वहीं सरकार ने प्रधानमंत्री की अगवानी, स्वागत और सत्कार के लिए लोक स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा को मिनिस्टर इन वेटिंग नामांकित किया है। समापन कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस के साथ ही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी उपस्थित होंगे। सत्र की अध्यक्षता लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन करेंगी।

इन देशों के प्रतिनिधि भी साथ होंगे
विचार महाकुंभ के अंतिम दिन सम्यक जीवन पर वैचारिक सत्र होगा। सुबह नौ बजे के इस पूर्ण सत्र में श्रीलंका में नेता प्रतिपक्ष सम्पंथान, भूटान के मंत्री डी एनन थुंगवेल, नेपाल के पूर्व कार्यवाहक प्रधानमंत्री खिलराज रेग्मी, बांग्लादेश के सांसद साधनचंद्र मजूमदार और मलेशिया दातो एसके देवगनी अपने विचार और सुझाव रखेंगे।

loading...
शेयर करें