सिद्धू पर टूटा अपनों का कहर, कांग्रेस सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से की सजा देने की मांग

चंडीगढ़: पंजाब की सत्तारूढ़ कांग्रेस सरकार ने अपने ही मंत्री और अपनी ही पार्टी के नेता नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया है। दरअसल, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने कोर्ट से दशकों पहले हुए पटियाला रोड रेज मामले को उठाते हुए नवजोत सिंह सिद्धू को सजा दिलाने की मांग की है। कांग्रेस सरकार की इस मांग के बाद कहा जा रहा है कि आने वाले समय में सिद्धू बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं।

कांग्रेस सरकार

आपको बता दे कि सन 1988 में हुए पटियाला रोड रेज मामले में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू को दोषी करार देते हुए तीन साल कैद की सजा सुनाई थी। इसके बाद सिद्धू ने हाई कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। यह मामला नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा की गई मारपीट का है जिसमें गुरनाम सिंह नाम के व्यक्ति की मौत हो गई थी।

इस मामले को लेकर सिद्धू के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर सबूत के रूप में उस साक्षात्कार का जिक्र किया गया था जिसमें उन्‍होंने कथित तौर पर माना था कि उन्‍होंने गुरनाम की पिटाई की थी, जिससे उसकी मौत हो गई थी

सिद्धू ने इस अर्जी का विरोध किया है। अब कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में नवजोत सिद्धू की सजा को बरकरार रखने की मांग की है। सिद्धू इन आरोपों को शुरू से खारिज करते रहे हैं। पंजाब सरकार की ओर से पेश वकील ने रोड रेज के मामले में नवजो‍त सिंह सिद्धू द्वारा दिए गए बयानों को झूठा करार दिया है।

Related Articles