दवा संकट पर भाजपा का रावत सरकार के खिलाफ हल्ला बोल

0

देहरादून। चुनावी साल होने के बावजूद बीजेपी ने सीएम का इस्तीफा मांगा है। जी हां, उत्तराखंड के सबसे बड़े अस्पताल दून और अन्य जिलों के सरकारी अस्पतालों में दवाओं की कमी समेत अन्य अव्यवस्थाओं पर भाजपा ने मोर्चा खोलते हुए ये मांग की। भाजपा ने सोमवार को प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरएस असवाल का घेराव करते हुए सरकार और स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ नारेबाजी और प्रदर्शन भी किया। दवा संकट पर स्वास्थ्य महानिदेशक और अधीक्षक ने मजबूरी बताई तो भाजपाई और भी भड़क गए। गुस्साए भाजपाइयों ने दवा की कमी पर सीएम का इस्तीफा मांगने के साथ ही स्वास्थ्य मंत्री और पूरी सरकार का भी इस्तीफा मांग लिया। भाजपाइयों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अस्पताल में सुविधाएं जल्द ही पटरी पर नहीं आई तो सरकार और विभाग के खिलाफ प्रदेश स्तरीय आंदोलन किया जाएगा।

 
ये भी पढ़ें – मिशन 2017 : बीजेपी को पटखनी देने के लिए कांग्रेस के पैंतरे तैयार

सीएम का इस्तीफा 4

सीएम का इस्तीफा मांगने के लिए निकाला जुलूस

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने महानगर भाजपा कार्यालय से दून अस्पताल तक जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन करते हुए सीएम का इस्तीफा मांगा। भाजपाइयों ने वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों का घेराव कर अस्पताल की अव्यवस्थाओं पर गहरी नाराजगी जताई। भाजपाइयों का कहना था कि अस्पताल में गरीब मरीजों को दवा नहीं मिल रही है। ऑपरेशन के लिए मरीजों को दो महीने तक इंतजार करना पड़ रहा है। प्रदर्शनकारियों की तीखी बहस भी हुई स्थितियां उग्र होने पर पुलिस को भी बीच बचाव करना पड़ा। चिकित्सा अधीक्षक द्वारा महानिदेशालय स्तर का मामला बताने पर भाजपाई वहीं धरने पर बैठ गए।

 
ये भी पढ़ें – उत्तराखंड में क्या तलाश रहे कुमार विश्वास

सीएम का इस्तीफा 3

डीजी हेल्थ ने दिया आश्वासन

भाजपाईयों का हंगामा और विरोध ज्यादा बढ़ने पर स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. कुसुम नरियाल भी आनन-फानन में दून अस्पताल पहुंची। महानिदेशक ने प्रदर्शनकारियों को बताया कि टेंडर शर्तों और मेडिकल कॉलेज बनने की प्रक्रिया के चलते दवाओं की आपूर्ति में थोड़ी समस्या आ रही है। लेकिन स्थितियां बहुत जल्द सामान्य हो जाएंगी और मरीजों को बेहतर उपचार के साथ दवाएं भी मिलेंगी।

loading...
शेयर करें