सीएम योगी की चेतावनी- हम जमीन पर बैठने वाले, मेरे लिए अलग व्यवस्था न करें

0

लखनऊ। जब सीएम योगी ने सत्ता सम्भाली है तब से नए-नए फैसले ले रहे हैं। इसी कड़ी ने सीएम योगी ने अपने अधिकारियों को एक नया फरमान जारी किया है। इस बार यह फरमान खुद सीएम योगी ले लिया। उन्होंने अपने प्रधान सचिव और अधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा है कि अगर वे राज्य में किसी जगह की यात्रा के लिए जाते हैं तो उनके लिए विशेष प्रकार का कोई प्रबंध न किया जाए।

सीएम योगी

सीएम योगी ने कहा- समय से काम पूरा नहीं होने पर दंडित होंगे अफसर

इसे लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को  इसे लेकर एक दिशा निर्देश भी जारी किया। सीएम योगी ने शास्त्रीनगर भवन में आयोजित बैठक के दौरान सख्त निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम तो जमीन पर बैठने वाले लोग हैं, इसलिए अलग से व्यवस्था नहीं होनी चाहिए। प्रदेश के मुख्यमंत्री तभी सम्मान के लिए योग्य होंगे जब राज्य के लोग अपने को सम्मानित महसूसस करेंगे।

वहीं जनता की समस्यायों को लेकर अफसरों द्वरा की जा रही ढिलाई पर नाराज होते हुए उन्होंने कहा कि जनता की समस्याओं का समय से समाधान न करने वाले अफसरों को चिह्नित कर दंडित किया जाए। योगी ने दोहराया है कि मंडल और जिले स्तर पर हर दिन सुबह नौ से 11 बजे तक मंडलायुक्त, डीएम, एसपी, तहसील व ब्लाक स्तर के अफसर अपने कार्यालय में उपस्थित होकर जनता की समस्या सुनें और समाधान कराएं।

गौरतलब है कि सीएम योगी पिछले महीने जम्मू-कश्मीर में शहीद प्रेम सागर के घर गए थे। योगी के वहां पहुंचने से पहले उनके अधिकारियों ने काफी इंतजाम किया। शहीद प्रेम सागर के घर कंडीशनर, कारपेट, सोफा लगवा दिए लेकिन जैसे ही सीएम निकले वैसे ही सारा सामान निकाल लिया गया।

इस घटना के बाद यूपी सरकार की काफी आलोचना हुयी। ऐसा ही कुछ पिछले हफ्ते भी देखने को मिला था जब योगी उत्तर प्रदेश मुसहर समुदाय के लोगों से भेंट करने एक गांव पहुंचे थे। यहाँ अधिकारियों ने साबुन बंटवाए थे और उन्हें साफ सुथरा होकर आने को कहा था।

loading...
शेयर करें