सीएम हरीश रावत ने चारधाम यात्रा की सुविधाओं का लिया जायजा

0

सीएम हरीश रावतदेहरादून। उत्तराखंड में इन दिनों चारधाम यात्रा चल रही है। ऐसे में सीएम हरीश रावत ने सालाना चार धाम की यात्रा पर आए श्रद्धालुओं व पर्यटकों को मुहैया कराई जा रही सुविधाओं का जायजा लिया।

सीएम हरीश रावत ने भक्तों से की बातचीत

सीएम हरीश रावत केदारनाथ मंदिर पहुंचे और भक्तों से बातचीत की और उन्हें मिल रही सुविधाओं पर उनकी राय जानी। उन्होंने अधिकारियों को बुलाकर समस्याओं को दूर करने का निर्देश दिया। रावत ने अधिकारियों से कहा कि इस मौसम में चारधाम यात्रा के लिए भक्तों की संख्या में इजाफा हो सकता है और इसलिए इसके मद्देनजर सुविधाओं को भी बढ़ाना चाहिए।

संबंधित विभागों को केदारनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए 1,200 और शामियाने लगाने का भी निर्देश जारी किया गया। सीएम रावत ने कहा कि पंजीकरण काउंटरों पर कर्मियों तथा मार्गो में पुलिसकर्मियों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।

रुद्रप्रयाग जिले के जिलाधिकारी को सभी आवश्यक व्यवस्था करने और चार दिनों के अंदर मुख्यमंत्री को रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को इस बात से अवगत कराया कि 65 विशेषज्ञ चिकित्सक, फार्मासिस्टों के साथ 54 चिकित्सक, 59 पानी की टंकियां तथा आठ ट्रांसफॉर्मरों को यात्रा मार्गो पर पहले ही तैनात किया जा चुका है।

उत्तराखंड में आई भीषण आपदा के दो साल बाद प्रदेश में देश विदेश से हजारों की तादात में यात्रियों ने देवभूमि का रुख कर दिया है। बीते 9 मई को केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट खुलने के दिन से ही इस बार पुलिस और प्रशासन द्वारा इस बार भारी तादात में यात्रियों के आने का अंदेशा जताया जा रहा था। 11 मई को बद्रीनाथ के कपाट खुलते ही इस बार रिकार्डतोड़ यात्रा शुरु हो गई। आईजी गढ़वाल संजय गुंज्याल ने बताया कि बीते 12 मई तक बदरीनाथ में सबसे ज्यादा 17 हजार, गंगोत्री में 15 हजार, केदारनाथ में 13 हजार, यमुनोत्री में 12 हजार यात्रियों ने पहले तीन दिन में दर्शन किए।

11 मई से तीन दिनों के अंदर बद्रीनाथ में 17619 भक्त, केदारनाथ में 1326, गंगोत्री में 15712 और यमुनोत्री में 12846 पहुंच चुके थे।

loading...
शेयर करें