सीरियल धमाकों से दहला अफगानिस्तान, 38 की मौत

काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में हमला हुआ। यहां दो जगह धमाका हुआ। इस हमले में करीब 38 लोगों की मौत हो गई जबकि 70 से ज्यादा लोग बुरी तरह से घायल हो गए हैं। काबुल हमले में सैनिक की भी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि ये एक आत्मघाती हमला था।

काबुल में हमला

काबुल में हमला होने के बाद लोगों में का माहौल

काबुल में हमला होने के बाद लोगों में का माहौल है। इन धमाकों में सैन्य और असैन्य नागरिकों सहित 38 लोगों की मौत हो गई। जबकि 70 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। ये आत्मघाती हमला अफगानिस्तान की संसद की करीब हुआ। अफगान गृह मंत्रालय के प्रवक्ता सादिक सिद्दीकी ने बताया कि एक धमाका कार के जरिए किया गया लगता है।

4 पुलिसकर्मी की मौत

सूत्रों के मुताबिक संसद के कर्मचारियों को निशाना बनाकर विस्फोट किया गया था। इस हमले में मारे गए लोगों में 4 पुलिसकर्मी शामिल हैं। देश से विदेशी सैनिकों को भगाने के लिए अभियान चला रहे तालिबान ने संसद के पास हुए इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

प्रांतीय पुलिस प्रमुख जनरल आगा नूर केमतोज ने कहा कि मंगलवार दिन में दक्षिणी हेलमंड प्रांत में एक आत्मघाती हमला हुआ। जिसमें कम से कम सात लोग मारे गए। उन्होंने कहा कि हमले का निशाना लश्कर गाह में प्रांतीय खुफिया विभाग के अधिकारियों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला गेस्ट हाउस था।

पीएम मोदी ने हमले की निंदा की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काबुल हमले की निंदा की है। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत हमेशा अफगानिस्तान के साथ है।

तालिबान ने ली हमले की जिम्मेदारी

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाहिद मजरूह ने चेतावनी दी है कि मृतकों की संख्या और बढ़ सकती है क्योंकि अस्पताल में भर्ती कई घायलों की हालत बहुत गंभीर है। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने कहा कि दोनों विस्फोट तालिबान ने कराए हैं। हताहतों में ज्यादातर अफगान खुफिया एजेंट हैं। हालांकि संगठन अक्सर हमला पीड़ितों के बारे में बढ़ा-चढ़ा कर जानकारी देता है।

 

Edited By- Mohammad Shoaib Khan

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.