12 जुलाई से पूरे यूपी में ठप हो जाएंगी ये सारी सुविधाएं !

0

गोरखपुर। न कूड़ा उठेगा, न पानी की सप्लाई होगी। यहां तक की रात में स्ट्रीट लाइट भी नहीं जलेंगीं। यानी नगरीय जनता को मिलने वाली सारी सुविधाएं बंद हो जाएंगी। नगर निगम, नगरपालिका और नगर पंचायत क्षेत्रों में हाहाकार मच जाएगा। वजह है निकाय कर्मचारियों की प्रस्तावित हड़ताल।

सुविधाएं

अगर सरकार और नगर निकाय कर्मचारियों के बीच बातचीत से कोई रास्ता नहीं निकला तो 12 जुलाई से लाखों कर्मचारी हड़ताल पर चले जाएंगे और आकस्मिक सुविधाएं तक बंद हो जाएंगीं। हांलाकि अभी भी सरकार पूरी कोशिश कर रही है उत्तर प्रदेश स्थानीय निकाय एवं सफाई संयुक्त मोर्चा के साथ उसकी बातचीत सफल रहे लेकिन हड़ताल की संभावना भी प्रबल होने लगी है।

मोर्चा के प्रान्तीय कार्यकारिणी सदस्य और गोरखपुर नगर निगम कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रामप्रकाश सिंह ने स्थानीय स्तर पर हड़ताल की तैयारियां तेज कर दी हैं। उन्होंने कर्मचारियों के अलग-अलग गुटों के साथ भी बैठकें कर ली हैं। एक विशेष बातचीत में उन्होंने कहा कि वे हड़ताल के लिए पूरी तरह से तैयार हैं और इस बार की हड़ताल में कोई भी आकस्मिक सेवा जारी नहीं रहेगी। स्ट्रीट लाइट तक बंद रहेंगी। उन्होंने प्रदेश के नेताओं के निर्देश पर अनिश्चितकाल तक हड़ताल चलने का संकेत दिया है।

10 सूत्रीय मांगें

प्रान्तीय कार्यकारिणी सदस्य रामप्रकाश सिंह ने बताया कि कर्मचारी हितों से जुड़ी दस सूत्रीय मांगों को लेकर वर्षों से संघर्ष किया जा रहा है। कोशिश थी कि शांतिपूर्ण और सम्मानजनक समाधान हो लेकिन सरकार से हर बार निराशा ही हासिल हुई। इसे लेकर पूरे प्रदेश के निकाय कर्मचारियों में खासा रोष है। अगर मांगें पूरी नहीं होती हैं तो यह गुस्सा 12 जुलाई से नजर आ सकता है।

लग्न के मौसम में हड़ताल

इस बार निकाय कर्मचारी ऐसे समय में हड़ताल पर जाने की तैयारी कर रहे हैं जबकि शादी-ब्याह के कार्यक्रम हो रहे होंगे। शहर में जगह-जगह कूड़े के अम्बार लगेंगे और उनकी सफाई न होने से संक्रमण फैल सकता है। सरकार अगर यह हड़ताल रोकने में असफल रहती है तो नतीजे बेहद भयावह होंगे।

loading...
शेयर करें