सुशांत के जैसा भी हो सकता है मेरा भी हाल पर मानसिक तौर पर मजबूत: अशोक डिंडा

नई दिल्ली। भारतीय तेज गेंदबाज अशोक डिंडा को टीम इंडिया के लिए ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला। 36 वर्षीय डिंडा कोलकाता से ताल्लुक रखने है। इन्हें पिछले साल रणजी ट्रॉफी के दौरान अनुशासनात्मक कारणों की वजह से बीच में ही बाहर कर दिया गया था। इस तरह से बाहर किए गए इस तेज गेंदबाज ने कहा कि वो बंगाल क्रिकेट की राजनीति के शिकार हुए हैं। उन्होंने कहा कि वो इस सीजन में एक नई टीम के साथ अच्छी वापसी करेंगे। उत्पल चटर्जी के बाद बंगाल की तरफ से सर्वाधिक विकेट लेने वाले डिंडा को गेंदबाजी कोच राणादेब बोस के साथ तीखी झड़प के बाद टीम से बाहर कर दिया गया था। उन्होंने माफी मांगने से इनकार कर दिया था।

बंगाल ने इस विवाद को पीछे छोड़ते हुए फाइनल में जगह बनायी और उप विजेता रहा। अब 116 प्रथम श्रेणी मैचों में 420 विकेट लेने वाले अशोक डिंडा ने कहा मैं बंगाल की टीम का हिस्सा नहीं रहूंगा। यह फैसला मैंने पिछले सत्र में ही कर दिया था। यह मेरा निजी मसला है। तेज गेंदबाज ने कहा कि पूरी दुनिया ने देखा कि फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत किस अवस्था से गुजरे थे। फिल्मी दुनिया ही नहीं सब जगह यही हाल है। लेकिन मैं मानसिक तौर पर काफी मजबूत हूं और किसी भी कारण से टूट नहीं सकता हूं।

डिंडा ने भारत के लिए 13 वनडे और 9 टी 20 मैच खेले हैं। उन्होंने कहा कि कुछ टीमों के साथ मेरी बात हो रही है और अगले सीजन में मैं किस टीम की तरफ से खेलूंगा इसके बारे में अभी मैंने कुछ फैसला नहीं किया है। लेकिन मैं किसी अन्य राज्य की तरफ से खेलूंगा।

Related Articles