सुशीला तिवारी हॉस्पिटल की तीसरी मंजिल से युवक ने लगायी छलांग, मौके पर ही हो गयी मौत

0

हल्द्वानी। हल्द्वानी जेल में एक किशोरी के अपहरण और दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार काशीपुर निवासी अकील ने सुशीला तिवारी हॉस्पिटल की तीसरी मंजिल के रोशनदान से छलांग लगा दी। जिसके बाद उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। इतना ही नहीं, उसकी बहन ने भी उसके कूदने के कुछ पलों बाद रोशनदान से कूद मार दी। उसका पैर फ्रेक्चर हुआ है।

हल्द्वानी जेल

रामनगर थाना पुलिस ने अकील को अक्टूबर 2016 में किशोरी के अपहरण और दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार किया था। इसके बाद अकील को 10 अक्टूबर को हल्द्वानी की जेल में लाया गया। पुलिस के अनुसार, अकील को मिर्गी के दौरे पड़ने की शिकायत थी। 28 फरवरी को हालत बिगड़ने पर अकील को बेस अस्पताल में भर्ती किया गया। जिसके बाद उसे दो मार्च को सुशीला तिवारी हॉस्पिटल रेफ़र कर दिया गया, जहां उसे तीसरी मंजिल में डी वार्ड में भर्ती किया गया था। उसकी सुरक्षा में दो पुलिस कर्मी थे।

सूत्रों की मानें तो अकील ने रात करीब दो बजे हथकड़ी कलाई से निकलकर दौड़ लगा दी। इसके साथ ही उसकी सुरक्षा में लगे दो पुलिस कर्मी उसके पीछे दौड़े तो उसने टूटे हुए रोशनदान से छलांग मार दी,जिसके बाद उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। पीछे से ही उसकी कथित बहन ने भी रोशनदान से छलांग लगा दी। जिसके बाद उसका पैर टूट गया है।

loading...
शेयर करें