सुषमा स्वराज की पहली पुण्यतिथि पर पीएम मोदी ने किया याद…

मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में विदेश मंत्री का कार्यभार संभालने वाली भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज को आज पूरा देश पहली पुण्यतिथि पर याद कर रहा है। उनके पति स्वराज कौशल और बेटी बांसुरी स्वराज ने उन्हें याद करते हुए ट्विटर पर भावुक संदेश लिखे। वहीं उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सैयद अकबरुद्दीन ने भी उन्हें याद किया।

उप राष्ट्रपति नायडू ने लिखा, ‘मैं अभी भी इस तथ्य को मानने में असमर्थ हूं कि उन्हें स्वर्ग गए एक साल का समय बीत गया है। वह मेरी प्रिय बहन थी, जो हर रक्षा बंधन पर मुझे राखी बांधने के लिए हमारे घर आती थी। सुषमा जी की भाषा और भाषणों के  हम सभी मुरीद रहे। भाषा की शुद्धता, शब्दों का चयन, विचारों में निष्ठा, अकाट्य तर्क और तथ्य, उनको एक लोकप्रिय वक्ता बना देते थे।’
उन्होंने आगे कहा, ‘सुषमा जी की हिंदी सुनने और सभी के समझने लायक होती थी। उनके शब्दों का चयन प्रायः शुद्ध होता था फिर भी उनका भाषण इतना सहज और सरल लगता था कि श्रोता मंत्र मुग्ध हो कर सुनते थे। संस्कृत के प्रति उनका विशेष आग्रह होता, वे अपनी शपथ संस्कृत में ही लेती थी। हरियाणा की निवासी होने की वजह से हरियाणवी हिंदी पर उनका अधिकार होना तो स्वाभाविक था, लेकिन कर्नाटक में चुनाव लड़ते समय कन्नड़ भाषा में उनके धारा प्रवाह भाषण उनको सचमुच बहु भाषा भाषी बनाते थे।’
प्रधानमंत्री मोदी ने दिवंगत केंद्रीय मंत्री को याद करते हुए लिखा, ‘सुषमा जी को उनकी पहली पुण्यतिथि पर याद कर रहा हूं। उनके असामयिक और दुर्भाग्यपूर्ण निधन से कई लोग दुखी हुए हैं। उन्होंने निस्वार्थ भाव से भारत की सेवा की और वे विश्व मंच पर भारत के लिए एक मुखर आवाज थीं। यही मैंने उनकी प्रार्थना सभा में कहा था।’

भाजपा नेत्री के पति स्वराज कौशल ने ट्विटर पर लिखा, ‘दिल की नाजुक रगें टूटती हैं, याद इतना भी कोई न आए, आज सोचा तो आंसू भर आए।’

स्वराज की बेटी बांसुरी ने लिखा, ‘या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता, या देवी सर्वभूतेषु मात्री रूपेण संस्थिता, नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।। मां तुम हमेशा मेरे साथ मेरी शक्ती के रूप में हो। हे कृष्ण मेरी मां का ख्याल रखना!’

सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, ‘सुषमा स्वराज को याद कर रहा हूं। वे एक ऐसी नेता थीं जिन्होंने अनिश्चित काल के लिए भारत के हितों को बढ़ावा दिया।’

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर कहा, ‘पूर्व केंद्रीय मंत्री, सरलता व सौम्यता की प्रतिमूर्ति, मृदुभाषी एवं प्रखर वक्ता, पद्म विभूषण श्रीमती सुषमा स्वराज जी की पुण्यतिथि पर उन्हें नमन।’सुषमा स्वराज को जन-जन की नेता बताते हुए नड्डा ने कहा कि उन्होंने सदैव जनसेवा को ही प्राथमिकता दी। राष्ट्र निर्माण में उनके द्वारा किए गए कार्य व संघर्ष अविस्मरणीय रहेंगे।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने उन्हें अपनी ‘प्रेरणा’ बताया और कहा ‘आज, पहले से कहीं ज्यादा उनकी याद आती है।’

सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट किया, ‘देश की पूर्व विदेश मंत्री व एक ओजस्वी वक्ता आदरणीय सुषमा स्वराज जी की पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि।’

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने उन्हें सबसे ऊंचे कद की भारतीय महिला नेताओं में से एक बताया और कहा कि देश के लिए उनका योगदान हमेशा याद किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘वह लोगों के बीच घुल मिल जाती थीं। उन्होंने अपना पूरा जीवन जन सेवा में खपा दिया।’

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सुषमा स्वराज को एक ओजस्वी वक्ता, दूरदर्शी नेता और इन सबसे अधिक एक करूणामयी इंसान के रूप में याद किया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उन्होंने भारतीय राजनीति पर एक अमिट छाप छोड़ी है और उनके हर योगदान के लिए हम उनके आभारी हैं।

Related Articles