ब्वॉयफ्रेंड कर रहा था सेक्स, तभी आ गए उसके दोस्त….

0
dr vish
डॉ. एस. के. विश्वकर्मा (होम्योपैथ विशेषज्ञ)

                 आपके सवाल, डॉक्टर के जवाब

-मेरे ब्‍वॉयफ्रेंड ने मेरे साथ धोखा किया। मेरे बर्थडे पर वह पार्टी के बहाने अपने एक दोस्‍त के फ्लैट पर ले गया। वहां पर जब हम दोनों सेक्‍स कर रहे थे उसी दौरान उसके दो और दोस्‍त भी आ गए। उन्‍होंने सबको बताने की धमकी दी तो दोस्‍त के कहने पर मुझे उनके साथ भी सेक्‍स करना पड़ा। कहीं इससे मुझे कोई रोग तो नहीं हो जाएगा। -डिम्‍पी, पटियाला

-आजकल की जेनरेशन कई बार ऐसी  गलती कर देती है।  सेक्‍स संबंध बनाने से पहले दोस्‍त की अच्‍छी तरह परख करना जरूरी है। जरूरी नहीं कि इससे किसी तरह का रोग हो जाए लेकिन यह भी नहीं पता कि आपका पार्टनर किसी सेक्‍स रोग से ग्रसित तो नहीं था। इसलिए आप चिकित्‍सक से मिलकर परामर्श जरूर करें और उस दोस्‍त से हमेशा के लिए किनारा कर लें।

 shutterstock_29828503-1-610x418

मेरा बेटा 15 वर्ष का है अक्सर रात में सोते समय इसे चलने की आदत है । यह नींद में उठकर बैठ जाता और चलने लगता है। कभी-कभी दरवाजा खोलकर बाहर चला जाता है और काफी दूर तक घूमकर स्वयं ही अपनी जगह पर आकार सो जाता है। पूरा घर परेशान है। पहले तो इसकी यह हरकत किसी को पता नहीं थी। इसका बड़ा भाई परीक्षा के समय जब देर रात तक पढ़ता था। इस दौरान उसकी इस आदत का उसे पता लगा। इसकी इस बीमारी के कारण रात के समय इसके कमरे को बाहर से ताला लगाकर सुलाया जाता है। ताकि यह बाहर न जा सके। समाधान बतायें। -अविनाश सिंह, राउरकेला

-यह एक नींद में चलने की बीमारी है । इसे सेमनेबल्सिन कहते हैं । लगभग प्रत्येक व्यक्ति अपनी रात्रि नींद में 90 से 120 मिनट तक सपनों वाली नींद में सोता हैं । इस स्थिति में इंसान की तंत्रिका तंत्र में परिवर्तन आता रहता है जैसे ह्रदय की गति का बढ़ना, श्वांस स्तर का बढ़ना आदि । इंसान जब भी सपना देखता है तो उसका शरीर स्थिर हो जाता है परंतु इस बीमारी से संबंधित व्यक्ति में यह दर सुन्न नहीं होती और ऐसे व्यक्ति देख रहे सपने को कार्य रूप देना शुरू कर देते हैं । ऐसे रोगी अपनी निद्रा में जटिल किया करने में सक्षम होते हैं । यह एक तरह की कठिन बीमारी है जिसे हम रेमसिलिप बिहेवियर, डिसआर्डर भी कहते हैं । वैसे यह बीमारी उम्र बढ़ने के साथ अपने आप ठीक हो जाती है पर ऐसे रोगों के लिये अपने आप रोग का ठीक होने का इंतेजार नहीं करना चाहिए । इस बीमारी का होम्योपैथिक ही इलाज हैं ।

 -लगभग तीन वर्षों से शरीर की मांसपेशियां कमजोर सी होती जा रही है । शरीर और चेहरे को देखने से लगता है कि उम्र काफी ज्यादा हो गयी है । पेट साफ नहीं होता, भूख भी कम लगती है । -नफीस सिद्दीकी, दतिया

-शरीर में बुढ़ापे का लक्षण आने का मतलब है कि शरीर में बीमारी या गलत जीवन शैली । मामूली रोग का समय से इलाज कर लिया जाए, तनाव पूर्ण तेज जिंदगी से बचा जाए और घी, मक्खन, चीनी युक्त पौष्टिक भोजन से परहेज किया जाये, तो असमय बुढ़ापे या बुढ़ापे के लक्षण से बचा जा सकता है । China Q.10 बूंद करके तीन बार Five Phos 3x चार गोली, दिन में तीन बार 6 महीने तक लें ।

मेरी उम्र 18 वर्ष है। अक्‍सर सुबह सोकर उठने के बाद मुझे अपनी योनि में गीलापन महसूस होता है। कहीं यह कोई बीमारी तो नहीं। -राहिला, लखनऊ

-ऐसा अक्‍सर स्‍वप्‍नदोष के कारण होता है। यह एक स्‍वाभाविक प्रक्रिया है। जिन युवाओं को यौन सुख प्राप्‍त नहीं होता वह रात में कामुकता भरे सपने देखते हैं और इस तरह उनका वीर्य स्‍खलन हो जाता है। लड़कों में यह आम बात है लेकिन कुछ लड़कियों में भी यह प्रक्रिया होती है। सुबह उठने पर उन्‍हें योनि में चिपचिपाहट या गीलापन महसूस होता है। एक सीमा तक इसमें कोई दोष नहीं लेकिन ज्‍यादा हो रहा है तो चिकित्‍सक से परामर्श लें। बाजार में इसके लिए कई तरह के उपाय मौजूद हैं लेकिन होम्‍योपैथी में अचूक दवाएं उपलब्‍ध हैं।

 -मुझे पेशाब करने से पहले और कभी कभी बाद में वीर्यपात हो जाता है। क्‍या इसका कोई इलाज है। -तारकेश्‍वर झा, पटना

-यह शुक्रमेह बीमारी के लक्षण हैं। बचपन की गलत आदतों और गलत तरीके से यौन उत्‍तेजना हासिल करने के लिए किये गए उपायों के कारण अक्‍सर यह समस्‍या सामने आती है। आप किसी होम्‍योपैथिक चिकित्‍सक से सलाह लें। अवश्‍य लाभ होगा।

 -मेरा बच्चा चार महीने का है । जब भी उसे स्तन पान कराती हूं। मेरे दूध वाली नली में बहुत दर्द होता है । यह दर्द मेरे सारे शरीर में फैल जाता है जब भी स्तन पान कराती हूं स्तन से बहुत अधिक दूध निकलता है। परेशान हूं। कोई इलाज बतायें। -ममता देवी, मुरादाबाद

-कुछ महिलाओं में लैक्टिक ग्लैंड के ज्यादा एक्टिव होने के कारण दूध बनने की प्रक्रिया तेज होती है जो इस बीमारी का कारण बनता है । Laccaninum 200 दो-दो गोली सुबह शाम साथ दिन तक लें । इससे दूध के ज्यादा बनने की प्रक्रिया में कमी आ जायेंगी । कष्ट से छुटकारा मिल जाएगा।

-समझ नहीं आ रहा कि मैं अपनी समस्‍या कहां से शुरू करूं। साल भर से मेरे लिंग में बिल्‍कुल उत्‍तेजना नहीं होता। जब तक पत्‍नी अपनी तरफ से पहल न करें मेरा लिंग उत्‍तेजित नहीं होता। यह भी बहुत थोड़ी देर के लिए। मुझे लगता है कि पत्‍नी को संतुष्‍ट नहीं कर पा रहा हूं। हस्‍तमैथुन करने पर भी लिंग से वीर्य नहीं निकलता। मैं क्‍या करूं। -परेश, कोलकाता

-अनियमित दिनचर्या, खानपान में व्‍यवधान और अत्‍यधिक तनाव में रहने वालों को अक्‍सर यह समस्‍या हो जाती है। संभव है आपको धातु क्षय हो गया हो। घबरायें नहीं यह रोग लाइलाज नहीं है। आप किसी होम्‍योपैथिक चिकित्‍सक से सलाह लें। दिनचर्या और खानपान में सुधार के साथ कुछ समय नियमित दवाएं लेने से यह समस्‍या दूर हो सकती है। आप फिर से अपना यौन जीवन पूरी उत्‍तेजना और आनंद के साथ जी सकते हैं।

 -मेरे लिंग के आसपास और अंडकोश में बहुत खुजली होती है। इतनी की आसपास का पूरा हिस्‍सा लाल हो जाता है। कई बार तो खुजलाते खुजलाते पपड़ी पड़ जाती है। कोई उपाय बताएं। -राकेश बहेलिया, रायपुर

-इस तरह की खुजली का कारण त्वचा संबंधी रोग है और त्वचा को ज्यादा रगड़ने से त्वचा पर जलन भी होती है। गलत दवाओं के इस्‍तेमाल या संक्रमित जानवर के संपर्क में आने से यह हो सकता है। इसी तरह गलत तरीके से यौन संबंध बनाने से भी यह रोग हो सकता है। चिकित्‍सक से परामर्श लेकर दवाएं लें यह रोग लाइलाज नहीं।

आप अपने सवाल इस मेल एड्रेस पर भेज सकते हैं-  dr.9415000666@gmail.com

 

loading...
शेयर करें