स्टडी में खुलासा: आखिर आपको कितना करना चाहिए सेक्स?

0

टोरंटो। क्या आप ज्यादा सेक्स करते हैं? आप किसी दूसरे कपल के बारे में सुनकर भी अपने बेडरूम की ऐक्टिविटी के बारे में सोचते होंगे। अक्सर आप सुनते हैं कि ज्यादा सेक्स करने के कारण सेहत से जुड़े फायदे मिलते हैं। इन सारी बातों को सुन जाहिर है आप अपने बारे में सोचने लगते होंगे।

सेक्स

सेक्स नहीं करने के कारण दबाव लेने की जरूरत नहीं है

अब शायद यह सभी के लिए खुशखबरी है जो काम और अपने बच्चों के कारण थकान से चूर हो जाते हैं। नए शोध के मुताबिक आपको हर दिन सेक्स नहीं करने के कारण दबाव लेने की जरूरत नहीं है। कम से कम खुशी और रिलेशनशिप में करीबी के मामले में इसका बहुत मतलब नहीं है।

नई स्टडी के मुताबिक शादीशुदा लोग या कमिटेड रिलेशनशिप में वैसे लोग जो ज्यादा सेक्स करते हैं वे खुश रहते हैं लेकिन जो हफ्ते में एक बार करते हैं वे भी कम खुश नहीं रहते। सेहत से जुड़े फायदों के मामले में भी दोनों में कोई अंतर नहीं है। जो एक हफ्ते में चार या उससे ज्यादा बार करते हैं वे हफ्ते में एक दिन करने वालों से ज्यादा खुश नहीं रहते।

कनाडा में डलहौजी यूनिवर्सिटी में एक पोस्टडॉक्टरल रिसर्चर एमी मिऊज ने सेक्शुअल रिलेशनशिप पर स्टडी की है। उन्होंने कहा, ‘कपल्स ज्यादा सेक्स करने के प्रेशर को खत्म कर सकते हैं।’ एमी ने कहा, ‘हर दिन जबर्दस्ती सेक्स करने के मुकाबले हफ्ते में एक बार ज्यादा बेहतर है।’ एमी इस रिसर्च को लीड कर रहे थे। यह स्टडी नवंबर महीने में जनरल सोशल साइकॉलजिकल ऐंड पर्सनलिटी साइंस में छपी थी।

इस स्टडी में बताया गया है कि सेक्स खुशी पाने का जरिया है क्योंकि इससे लोग अपनी रिलेशनशिप में संतुष्ट महसूस करते हैं। इस स्टडी के सर्वे डेटा से भी कई चीजें सामने आई हैं। यह सर्वे अलग-अलग वर्गों में किया गया है। इसमें यूएस नैशनल सर्वे ऑफ फैमिलीज ऐंड हाउसहोल्ड के भी 2,400 कपल्स शामिल थे।

एमी ने कहा, ‘जो रिलेशनशिप में हैं उनकी रोमांटिक रिलेशनशिप की क्वॉलिटी सबसे बड़ा खुशी रखने का जरिया है। हफ्ते में एक बार से ज्यादा करने से शायद ज्यादा खुशी का जरिया नहीं बन सकता लेकिन यह बुरा भी नहीं है। यह साफ नहीं है कि पहले क्या सेक्स या आनंद। शायद इसे अलग नहीं किया जा सकता।

 

साभार : नवभारत टाइम्स 

loading...
शेयर करें