16 साल में ही लग गई सेक्‍स की ज्‍यादा लत, बीमारी तो नहीं

0
DR SK Vishwkarma
डॉ. एस. के. विश्वकर्मा (होम्योपैथ विशेषज्ञ)

-आपके सवाल, डॉक्‍टर के जवाब –

मेरी उम्र बीस साल है। एक करीबी रिश्‍तेदार ने मुझे चार साल पहले सेक्स की बुरी लत लगा दी। तब से उस रिश्‍तेदार और तीन अन्‍य पुरुषों के साथ मेरे सेक्स संबंध हैं। कहीं मुझे कोई यौन रोग तो नहीं होगा। -सिमरन, सोनीपत

कम उम्र में सेक्स से संबंधित रोगों का खतरा सबसे अधिक रहता है। यदि सेक्स संबंध कई पुरुषों के साथ हों तो संक्रमण का खतरा और अधिक बढ़ जाता है। पाया गया है कि ऐसी स्थिति में कलैमाइडिया और गोनोरिया जैसे यौन संक्रमण आम बात हैं। इनके संक्रमण भी आसानी से पता नहीं चलते। जब आपको सेक्स की लत लगी तब आपकी उम्र काफी कम थी लेकिन अब आप समझदार हैं। किसी चिकित्‍सक से परामर्श कर तसल्‍ली कर लें।

weakness

काफी कोशिश के बावजूद भी मेरे सेहत नहीं बनती, दिन प्रतिदिन कमजोर होता जा रहा हूँ कोई दवा बतायें। – इमरान खान, भोपाल

-Ignatia 30 दो-दो गोली तीन बार China Q 10 बूंद करके तीन बार लें ।

मेरे लिंग की लंबाई और मोटाई तो ठीकठाक है लेकिन उसका आकार कुछ टेढ़ा है। मुझे काफी कम उम्र से हस्‍तमैथुन की आदत है। कहीं यह हस्‍तमैथुन के कारण तो नहीं। क्‍या लिंग को सीधा किया जा सकता है। -प्रेमकांत, भिलाई

लिंग का टेढ़ा होना कोई बड़ी समस्‍या नहीं है। आम तौर पर देखा गया है कि लिंग का टेढ़ा होना जन्‍मजात भी हो सकता है। इससे सेक्स के आनंद में खलल नहीं पड़ता। यह धारणा भी उचित नहीं है कि हस्‍तमैथुन से लिंग टेढ़ा हो जाता है। हां, ज्‍यादा हस्‍तमैथुन करने से नसें ढीली होने की कुछ समस्‍या हो सकती है। होम्‍यापैथी में इसके लिए कई दवाइयां है। आप चिकित्‍सक के परामर्श से इनका सेवन कर सुखी सेक्स जीवन का आनंद ले सकते हैं।

midlife-sex-photo

मेरे अपने ब्‍वॉयफ्रेंड के साथ सेक्स संबंध हैं लेकिन अभी वह तीन साल तक शादी नहीं करना चाहता। हम क्‍या करें कि मुझे गर्भ न ठहरे। -किरन खोटे, पुणे

विवाह से पूर्व सेक्‍स संबंधों में गर्भधारण की चिंता सर्वाधिक होती है। कई बार तो इससे सेक्‍स का आनंद ही जाता रहता है। दुनियाभर में सेक्‍स के समय गर्भधारण से बचाव के तीन तरीके सर्वाधिक लोकप्रिय हैं। कंडोम का इस्‍तेमाल, वीर्य स्‍खलन से पूर्व ही विडरा कर लेना और गर्भ निरोधक गोलियां। कुछ लोगों को कंडोम के इस्‍तेमाल में परेशानी महसूस होती है लेकिन सबसे सुरक्षित तरीका भी यही है।

oral sex

ओरल सेक्‍स और एनल सेक्‍स भी क्‍या गर्भ ठहर सकता है। यौन रोगों के दृष्टि से सेक्‍स का यह तरीका कितना सुरक्षित है।                       -कामिनी जायसवाल, वाराणसी

दुनियाभर में अलग-अलग लोगों में सेक्‍स की अलग-अलग हैबिट होती हैं। कुछ लोगों को ओरल सेक्‍स यानी मुख मैथुन में ज्‍यादा आनंद मिलता है तो कुछ लोगों को एनल सेक्‍स यानी गुदा मैथुन में सुख की अनुभूति होती है। योनि मर्दन तो परंपरागत तरीका है ही लेकिन गर्भधारण से बचने के लिए भी इन तरीकों का इस्‍तेमाल किया जाता है। ओरल और एनल सेक्‍स से गर्भधारण तो नहीं होता लेकिन यौन संक्रमण की संभावना रहती है। खास तौर पर गुदा मैथुन के समय कंडोम और लुब्रीकेंट की आवश्‍यकता ज्‍यादा होती है।

मुझे अजीबोगरीब समस्‍या है। जब तक ओरल सेक्‍स न हो तब तक मेरे लिंग में उत्‍तेजना आती ही नहीं। इस वजह से मेरी सेक्‍स की आवृत्ति भी कम होती जा रही है। क्‍या मेरी सेक्‍स लाइफ खत्‍म हो गई है।-राम सुमिनरन, गोंडा

प्रौढ़ावस्‍था में इस तरह की समस्‍या होना आम बात है लेकिन यह कोई बड़ी समस्‍या नहीं है। आप स्‍तंभन दोष से ग्रसित लगते हैं। किसी अच्‍छे होम्‍योपैथी चिकित्‍सक से मिलें, इस विधा में स्‍तंभन दोष दूर करने वाली कई कारगर दवाइयां हैं। आप चिंता न करें, कुछ समय नियमित इलाज के बाद आप पुन: अपनी सेक्‍स लाइफ को अच्‍छी तरह जी सकेंगे।

tonsil

लगभग आठ वर्षों से मेरे बच्चे के गले में शिकायत रहती थी कभी टांसिल बढ़ जाना, कभी गले में बार- बार खारिश होना, बुखार आ जाना या गले में सूजन होना, इस तरह की समस्या होती रहती थी थोड़ा बहुत इलाज से ठीक हो जाता था लगभग दो महीने से इसे बुखार रहता है। बुखार किसी दवाइयों से ठीक नहीं हो पा रहा, डाक्टर इसे रियूमेटिक फीवर बता रहे है। यह कैसा बुखार है? इसका इलाज भी बतायें। – माला श्रीवास्तव, वीरभूमि

रियूमेटिक फीवर से पूरे ह्रदय पर सूजन आ जाती है ह्रदय का भीतरी स्टार और बाहरी आवरण की कला सभी सूज जाते है । इसकी वजह से अंदरूनी स्तर सहित ह्रदय के समस्त तन्तु क्षतिग्रस्त हो जाते हैं । उनमे धीरे-धीरे गुत्थे पड़कर विकृति पैदा हो जाती है । इसकी वजह से ह्रदय-कपात के मुंह सिकुड़ जाते है । नतीजन इनमें से गुजरने वाली रक्त की मात्रा घटकर प्रवाह रुकने लगता है । इससे फुसफुस और यकृत भी प्रभावित होने लगते है । होम्योपैथिक में इस बुखार की कारगर दवा है । डाक्टर को दिखाकर इसका सही इलाज करायें ।

constiaption

लगभग तीन वर्षो से कब्ज़, एसिडिटि, बदहजमी, सुस्ती और कमजोरी बनी रहती है । अक्सर फास्ट फूड खाकर ही अपना काम चला लेती हूँ। कोई दवा बतायें। – प्रेमा श्रीवास्तव, गाजियाबाद

-फास्ट फूड बिना रेशे का बासी भोजन है । लंबे समय तक खराब होने से बचाने के लिए खतरनाक रसायन मिलाये जाते हैं । इन रसायनो से रक्तचाप, दिल की धड़कन, घबराहट, पाचन तंत्र के विकार, बदहजमी, कैंसर व टी.बी. जैसे रोग फैलते हैं । फास्ट फूड में रेशे न होने के कारण भोजन का कुछ अंश पचने से रह जाता है । जो पेट मे रहकर सड़ना शुरू हो जाता है । नियमित रूप से ऐसा भोजन न करें Acid Acetic 30दो-दो  गोली दिन मे तीन बार Carbo-Veg 3X चार गोली तीन बार तीन महीने तक लें ।

अक्सर मेरे बच्चे को टोंसिल और बुखार की समस्या हो जाया करते है। कभी-कभी बुखार के साथ इसके जोड़ों मे सूजन आ जाती है। सूजन के कारण ये असहाय हो जाता है। इलाज से कुछ दिन तक ठीक रहता है । कुछ दिन बाद ये समस्या फिर आ जाती है। इसकी बीमारी से परेशान हूँ। क्या करूँ। -अरुण गर्ग, इलाहाबाद

-लक्षण के अनुसार बच्चे की र्र्युमटिक ह्रदय रोग की शुरुआत हो सकती है । शुरू में मामूली सी दिखने वाली बुखार गले की बीमारी, जोड़ो में दर्द और सूजन आगे चलकर खतरनाक रूप ले सकती है । यह मुख्यतः दिल के वाल्व का रोग है । इसमे दिल के एक या ज़्यादा वाल्व खराब हो जाते हैं । या उसका घेरा इतना सकरा हो जाता है कि उसके रास्ते खून का गुजर पाना मुश्किल हो जाता है । जिसका असर दिल पर पड़ता है बच्चे को किसी कुशल चिकित्सक को दिखाकर उसकी जांच करायें, कारण का पता चलने पर ही दवा बताना संभव होगा ।

आप अपने सवाल इस मेल एड्रेस पर भेज सकते हैं-  dr.9415000666@gmail.com

 

loading...
शेयर करें