सैनिकों की शहीदों पर बोले कुमार विश्वास कहें…

लद्दाख में भारतीय सेना के जवानों की शहादत के बाद से ही देश में चीन के खिलाफ लोगों में रोष बढ़ गया है। देश के बाजारों से चीनी उत्पादों को निकाल फेंकने और चीन को सबक सिखाने की मांग तेज हो गयी है। जाने-माने कवि कुमार विश्वास ने भी भारत सरकार को सबक सिखाने की मांग करते हुए सोशल मीडिया पर एक लंबा लेख लिखा है।

कुमार विश्वास ने प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री और रक्षा मंत्री को संबोधित करते हुए लिखा, देश की आवाज और देश के मानस को समझिए! देश भर में चीनी कम्पनियों को दिए गए निर्माण के सभी ठेके रद्द करिए! भारतीय कंपनियों में षडयंत्र पूर्वक किए गए निवेश को निकाल फेंकिए! उस निवेश की जगह भारतीय कम्पनियों को भारत सरकार से निवेश दिलाइए। चीनी उत्पादों के खिलाफ देश को तैयार कीजिए।

कुमार विश्वास ने कहा है कि सबसे पहले सरकार और आप लोग जो भी चीनी उत्पादों का प्रयोग कर रहे हैं, उनका सार्वजनिक त्याग कीजिए। चीनी उत्पादों के समतुल्य सामान बनाने वाली और ऐसे उत्पाद बनाने को उत्सुक भारतीय कंपनियों को टैक्स में छूट देकर उनका मनोबल बढ़ाइए।

प्रख्यात कवि ने लिखा है, याद रखिए! इतिहास किसी भी नायक को दो बार नहीं आजमाता। यह भी याद रखिए कि हम घास की रोटी खाकर भी देश के स्वाभिमान के लिए लड.ने वाले महान योद्धा महाराणा प्रताव के वंशज हैं। रूखी-सूखी खा लेंगे लेकिन अब सरहदों पर समझौते नहीं करेंगे। अंत में कुमार विश्वास ने लिखा, साहस जुटाइए प्रधानमंत्री जी…देश आपके साथ खड़ा है।

बता दें कि लद्दाख कांड के बाद देश भर में चीनी उत्पादों के बहिष्कार की मांग तेज हो गयी है। जगह-जगह लोग चीनी उत्पादों के खिलाफ मार्च और जुलूस भी निकाल रहे हैं। लखनऊ में व्यापारी नेता संजय गुप्ता की अगुवाई में व्यापारियों ने चीनी उत्पादों के बहिष्कार की शपथ ली है।

Related Articles