बेटे के नाम पर हुए बवाल पर सैफ ने तोड़ी चुप्पी, कहा- ‘देनी चाहिए थी चेतावनी’

0

मुंबई। बेटे तैमूर के नाम को लेकर सोशल मीडिया पर हो रहे बवाल पर आखिरकार सैफ अली खान ने चुप्पी तोड़ी। सैफ ने बेटे का नाम तैमूर रखने की असल वजह बताई। उन्होंने कहा, तैमूर एक पुराना फारसी नाम है जिसका मतलब लोहा होता है। मुझे और करीना को इसका मतलब अच्छा लगा इसलिए हमने बेटे का नाम ये रखा। इसके अलावा और कोई वजह नहीं है।

सैफ अली खान

सैफ अली खान ने बताया क्या थी बेटे का नाम तैमूर रखने की असल वजह

सैफ ने कहा, मुझे तैमूर नाम के तुर्की शासक के बारे में पता है।  मेरे बेटे का नाम उसके नाम पर नहीं रखा गया। तैमूर एक पुराना फारसी नाम है जिसका मतलब लोहा होता है। करीना और मुझे इस शब्द का मतलब और इसकी आवाज काफी पसंद आई इसलिए हमने बेटे का नाम तैमूर रखा। मैंने करीना को कई नाम बताए थे, लेकिन करीना को से पसंद आया क्योंकि इसका मतलब फौलाद है।

साथ ही सैफ ने एक वजह और बताई, सैफ ने कहा- तैमूर नाम मेरे परिवार में एक और सदस्य का है। यह एक पुराने फैमिली नेम की तरह है। जिस तरह मेरी बेटी सारा का नाम। सारा मेरी एक बहन का नाम भी है। मैं उसे बेहद पसंद करता हूं। इसलिए मैंने बेटी का नाम सारा रखा था।

बेटे के नाम के साथ लगाना चाहिेए था डिस्क्लेमर

तैमूर का नाम सोशल मीडिया पर ट्रॉल होने पर उन्होंने कहा, मुझे इस नाम के साथ एक डिस्क्लेमर लगा देना चाहिए था कि इसका किसी इंसान, जीवित या मृत से मेल खाना मात्र एक संयोग माना जाएगा। कई लोग थे जिन्होंने इस नाम पर सवाल खड़े किए थे। लेकिन कई लोगों ने मेरे पक्ष में भी बात की थी। 

तैमूर का जन्म 20 नवंबर को हुआ। जन्म के कुछ देर बाद ही सोशल मीडिया तैमूर के नाम को लेकर घमासान शुरु हो गया। कोई इसे धर्म से जोड़ रहा था चो कोई इतिहास से। उस वक्त तो सैफ और करीना में से किसी ने भी इस पर कोई कमेंट नहीं किया था। लेकिन अब सैफ ने बेटे के नाम को लेकर राज़ खोला।   

loading...
शेयर करें