सोनिया गांधी का पहला प्यार राजीव नहीं कोई और था

0

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को दुनिया राजीव गांधी की पत्नी और राहुल गांधी की मां के तौर पर जानती है। लेकिन सोनिया का अतीत भी काफी दिलचस्प है। दुनिया भले सोनिया और राजीव की लव स्टोरी जानती हो, लेकिन यह नहीं जानती होगी कि सोनिया गांधी का पहला प्यार राजीव गांधी नहीं थे।

सोनिया गांधी का पहला प्यार

सोनिया गांधी का पहला प्यार

बात उस दौर की है जब सोनिया गांधी 16 बरस की थीं। जिंदगी की ज्यादा समझ नहीं थी। उन दिनों इटली में रहने वाली सोनिया गांधी को एक खूबसूरत फुटबॉलर से प्यार हो गया। 26 साल के फुटबॉल प्लेयर फ्रांको लुइसो भी सोनिया को अपना दिल दे बैठे।

इटली की रहने वाली सोनिया का असली नाम एंटोनिया माइनो था। एंटोनिया और फ्रांको का रिश्ता चार साल तक चला। दोनों के परिवार भी इस रिश्ते से वाकिफ थे। साथ ही इस रिश्ते के शादी में बदलने से भी किसी को ऐतराज नहीं था।

मगर मुश्किल तब आई, जब बचपने से भरी सोनिया ने फ्रांको से शादी करने की ठान ली। फ्रांको उन दिनों अपने करियर पर ध्यान दे रहे थे। उन्होंने सोनिया से साफ कह दिया कि अभी वह शादी के लिए तैयार नहीं हैं। बस, यही बात सोनिया का दिल तोड़ गई।

1964 में सोनिया इंग्लैंड चली गईं। यहां उनकी मुलाकात राजीव गांधी से हुई। उधर, वक्त बीतने के साथ फ्रांको को भी नई साथी नोरा मिल गई। दोनों ने शादी कर ली। नोरा ने एक इंटरव्यू में कहा था कि जब उन्हें पता चला कि फ्रांको, सोनिया गांधी का पहला प्यार थे तो वह डर गईं।

इस लवस्टोरी से नोरा जलती थीं और चाहती थीं कि सोनिया कभी वापस नहीं लौटे। आखिर यही हुआ भी। इधर, इंग्लैण्ड में सोनिया बड़ी और समझदार हो चुकी थीं। राजीव गांधी के तौर पर उन्हें एक बेहतर हमसफर मिल गया था।

सोनिया अपने पहले प्यार को भूल चुकी थीं। वह समझ चुकी थीं कि बचपन में ऐसी नादानियां होती हैं। ल‍ेकिन इधर फ्रांको एक अरसे तक सोनिया को नहीं भूले। गाहे-बगाहे वह सोनिया का जिक्र कर ही देते थे। उनकी इस कहानी को 1964 की जेंटल मैगजीन ने भी छापा था। मैगजीन ने फ्रांको का इंटरव्यू लिया था। हालांकि इस बारे में सोनिया गांधी ने आज तक कोई टिप्पणी नहीं की है।

loading...
शेयर करें