सौरमंडल में 2 साल पहले आया था ये मेहमान, अब वैज्ञानिक भी हुए परेशान

दो साल पहले यानी 2018 में हमारे सौर मंडल में एक मेहमान आया. बेहद रहस्यमयी तरीके से हमारे सौरमंडल में आने वाले इस गेस्ट का नाम है ओउमुआमुआ . पहले तो वैज्ञानिकों को लगा कि यह एक एस्टेरॉयड है. लेकिन अब नए संकेत यह मिल रहे हैं कि यह एलियन टेक्नोलॉजी है.

इसे एलियन टेक्नोलॉजी मानने के पीछे कारण ये है कि सिगार के आकार का यह पत्थर धीरे-धीरे खिसक रहा है. जैसे इसे कोई धक्का दे रहा हो. जबकि, ये पहले कुछ महीने स्थिर था. अब वैज्ञानिकों को ये समझ में नहीं आ रहा है कि ऐसा क्यों हो रहा है.

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के अंतरिक्ष विज्ञानी एवी लोएब कहते हैं कि इस वस्तु को एक एलियन मशीन खींच रही है. जो एक मिलीमीटर से भी पतली है. या फिर इसे सौर विकिरण यानी सोलर रेडिएशन अपनी ओर खींच रहा है.

जबकि, कई वैज्ञानिकों का मानना है कि इसकी चाल अपने आप बदल रही है. क्योंकि इसके चारों तरफ सॉलिड हाइड्रोजन का ब्लास्ट हो रहा है. जिसकी वजह से ये लगातार अपनी गति और दिशा बदल रहा है.

17 अगस्त को द एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लेटर्स में एवी लोएब और थियेम होआंग ने हाइड्रोजन ब्लास्ट की थ्योरी को खारिज करते हुए कहा कि ऐसा नहीं हो सकता. ये जरूर संभव है कि हमारे सौर मंडल में एलियंस आते हों

शिकागो यूनिवर्सिटी के अंतरिक्ष विज्ञानी डैरिल सेलिगमैन कहते हैं कि ओउमुआमुआ आया तो था एस्टेरॉयड की तरह लेकिन इसके पीछे कोई पूंछ नहीं है. न ही कोई रोशनी. इसलिए यह तो निश्चित है कि यह हमारे सौर मंडल के बाहर से आया है.

ओउमुआमुआ का आकार 1300 से 2600 फीट लंबा माना जा रहा है. यह बेहद धीमे रॉकेट इंजन की तरह हमारे सौर मंडल में घूम रहा है. जबकि, इतनी धीमी गति बहुत कम वस्तुएं घूमती हैं

एक थ्योरी यह भी कहती है कि ओउमुआमुआ सिर्फ 40 लाख साल पुराना है. ऐसा उसके आकार, चाल आदि को देखकर अंदाजा लगाया गया है. अब पूरी दुनिया में इस अंतरिक्षीय वस्तु को लेकर वैज्ञानिकों के बीच बहस चल रही है कि क्या ये एलियन टेक्नोलॉजी है. या फिर सामान्य अंतरिक्षीय वस्तु.

Related Articles