मप्र के स्कूलों में पढ़ाया जाएगा आदि शंकराचार्य का दर्शन : शिवराज

ओंकारेश्वर।  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यहां गुरुवार को नर्मदा नदी के तट पर आयोजित ‘आदि शंकराचार्य के स्मरण प्रसंग’ कार्यक्रम में स्कूली पाठ्यक्रम में आदि शंकराचार्य के दर्शन को शामिल करने का ऐलान किया। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आदि शंकराचार्य ओंकारेश्वर की जिस गुफा में गुरु के सान्निध्य में रहे, उस गुफा का जीर्णोद्धार किया जाएगा। इसके अलावा वेदांत संस्थान स्थापित किया जाएगा। शंकराचार्य के जीवनकाल को दर्शाने के मकसद से संग्रहालय बनेगा और एक बड़ी प्रतिमा स्थापित की जाएगी।

स्कूली पाठ्यक्रम

स्कूली पाठ्यक्रम में शंकराचार्य के दर्शन को किये शामिल

इस कार्यक्रम में जूनापीठाधीश्वर अवधेशानंद गिरि, साध्वी ऋतंभरा, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सुरेश सोनी सहित अनके संत मौजूद थे।इससे पहले मुख्यमंत्री चौहान ने ओंकारेश्वर में भगवान के ज्योतिर्लिग के दर्शन किए। उन्होंने प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना की।

उन्होंने यहां नर्मदा नदी के पावन तट पर स्थित आदि शंकराचार्य की प्राचीन गुफा के भी दर्शन किए। चौहान ने यहां पर पौधरोपण किया और साधु-संतों से भेंट की। इस मौके पर चौहान की पत्नी साधना सिंह चौहान भी मौजूद थीं। मुख्यमंत्री यहां नर्मदा सेवा यात्रा एवं आदि शंकराचार्य के स्मरण प्रसंग पर आयोजित संगोष्ठी में शामिल हुए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button