बदसूरत होने की वजह से नहीं मिला एडमिशन!

0

स्कूलजयपुर। स्कूल में एडमिशन के लिए पढ़ाई में तेज़ होना जरुरी है, लेकिन आज कल राजस्थान के स्कूल बच्चों की खूबसूरती देखकर एडमिशन देते है। यहां एक 11 साल की बच्ची जब स्कूल में एडमिशन के लिए पहुंची तब उसे यह कहकर स्कूल से निकल दिया कि वह बदसूरत है।

स्कूल प्रशासन ने नहीं दिया एडमिशन

स्कूल के प्रिंसिपल लोग बताते हैं कि ये लड़की इतनी ‘बदसूरत’ है, कि बच्चे इसे देखकर डर जाते हैं। एक प्राइवेट चैनल पर खबर चलने और जिला शिक्षा अधिकारी के इंट्रेस्ट दिखाने के बाद एडमिशन तो हो गया।

हादसे से गुजरी प्रिया

इस 11 साल की बच्ची का नाम प्रिया है। आठ साल पहले बड़े भारी हादसे से गुजरी। 24 दिसंबर सन 2007 की बात है। तब वो बहुत छोटी थी। इस दिन सुबह उसके पापा काम पर गए थे। मां नहाने और बड़ी बहन सो रही थी। ये बच्ची अंगारों से भरे अलाव में मुंह के बल गिर गई। चेहरा और उंगलियां बुरी तरह झुलस गए।

लड़की के पिता एक प्राइवेट बस के कंडक्टर हैं। लोगों से कर्ज लेकर धौलपुर, जयपुर, आगरा में इलाज कराया। लेकिन चेहरा और हाथ ठीक नहीं हुए। इतना पैसा है नहीं कि प्लास्टिक सर्जरी करा सकें।

पिछले साल जब वह विद्यालय गई प्रिया हिंदी, गणित, अंग्रेजी की एकदम शुरुआती पढ़ाई उसे अच्छे से आ गई है। बाद में विद्यालय वालों ने आगे अब एडमिशन देने से इंकार कर दिया।

इसकी खबर मिलने पर जिला शिक्षा अधिकारी मुकेश शर्मा खुद उस बच्ची के घर गए और प्रिया के साथ विद्यालय जाकर उसका एडमिशन कराया।

 

loading...
शेयर करें