स्टडी : रोजाना अंगूर खाने से आप कभी नहीं होंगे डिप्रेशन का शिकार

नई दिल्ली। आजकल की भागती- दौड़ती जिंदगी में हर शख्स किसी न किसी तनाव से गुजर रहा है। ऐसे में हम अपने खाने-पीने पर भी उतना ध्यान नहीं दे पाते जिसका नतीजा होता है कि हमें पता भी नहीं चलता कि हम कब डिप्रेशन का शिकार हो गए। अगर आप डिप्रशेन से गुजर रहे हैं तो आपको अंगूर खाने की आदत डालनी चाहिए। क्योंकि अंगूर खाने वालों को डिप्रेशन की शिकायत नहीं होती। एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है।

अंगूर खाने

जी हां, हाल ही में हुई एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है। जिन लोगों के आहार में अंगूर शामिल है वो लोग मानसिक तौर पर बिलकुल स्वस्थ्य हैं जबकी बाकी लोगों के साथ इसका उलटा है और उन्हें अपने अंदर की निगेटिविटी से बाहर निकलने के लिए डॉक्टरों का सहारा लेना पड़ता है।

ऑनलाइन ‘नेचर कम्यूनिकेशंस’ में प्रकाशित शोध के नतीजे बताते हैं कि भोजन में अंगूर से मिलने वाले नैसर्गिक तत्वों से हताशा जैसे मनोविकार कम हो सकते हैं। मुख्य शोधकर्ता व न्यूयॉर्क के इकाह्न स्कूल ऑफ मेडिसिन में प्रफेसर गियूलियो मारिया पसिनेत्ती ने कहा, ‘अंगूर रहित पोलीफिनॉल कम्पाउंड उत्तेजना से जुड़े कोशिकीय व आणविक मार्ग को निशाना बनाता है। लिहाजा इस संबंध में की गई नई खोज से निराशा व चिंताग्रस्त लोगों का इलाज संभव हो पाएगा।’

Related Articles

Back to top button