स्टिंग वीडियो का विरोध करने के लिए सभी कांग्रेसी पहुंचे दिल्ली

0

स्टिंग वीडियोदेहरादून। स्टिंग वीडियो मामले में सीएम हरीश रावत से आज पूछताछ करने के लिए सीबीआई ने उन्हें दिल्ली बुलाया गया है। जिसके बाद कांग्रेस पार्टी ने सीएम रावत के समर्थन में लामबंद हो गई है। कांग्रेस पार्टी आलाकमान के निर्देश पर पार्टी के तमाम विधायक, प्रदेश अध्यक्ष से लेकर कार्यकारिणी के तमाम पदाधिकारी, आला पार्टी नेता और सैकड़ों कार्यकर्ता दिल्ली पहुंच गए हैं। विधायकों, नेताओं, कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के दिल्ली स्थित आवास नौ तीन मूर्ति लेन पर डेरा डाल दिया है।

स्टिंग वीडियो की जांच कर रही है सीबीआई

स्टिंग वीडियो प्रकरण की सीबीआई जांच कर रही है। सीबीआई ने प्रकरण से जुड़ी जानकारियां हासिल करने को लेकर मुख्यमंत्री हरीश रावत को दिल्ली बुलाया है। मुख्यमंत्री रावत और प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय कई पार्टी नेताओं के साथ दिल्ली भी पहुंच गए हैं।

साथ ही मुख्यमंत्री को नैतिक समर्थन के नाम पर पार्टी विधायकों, नेताओं और कार्यकर्ताओं की लंबी फौज भी दिल्ली पहुंची है। सूत्रों का कहना है कि यदि सीबीआई मुख्यमंत्री को पूछताछ के नाम पर हिरासत में लेती है तो आगे की रणनीति के तहत विधायकों, नेताओं और कार्यकर्ताओं को दिल्ली बुलाया गया है।

किशोर ने दी सफाई

प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि विधायकों, पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को दिल्ली पहुंचने के लिए कोई निर्देश नहीं जारी किया गया है। नैतिकता के चलते पार्टी पदाधिकारी दिल्ली पहुंचे हैं। उनका दावा है कि पार्टी पूरी मजबूती के साथ मुख्यमंत्री के साथ खड़ी है।

प्रदेश अध्यक्ष उपाध्याय का आरोप है कि स्टिंग वीडियो का बहाना लेकर अब मोदी सरकार सीबीआई की मदद से एक बार फिर राज्य सरकार को गिराना चाह रही है। सीबीआई केंद्र के इशारे पर काम कर रही है। सीबीआई संवैधानिक कानूनों के विपरीत दबाव में काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि सीबीआई को हरीश रावत के साथ-साथ हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों के खिलाफ भी जांच करनी चाहिए, जो तमाम भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे हैं। साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा, भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत को भी दिल्ली तलब कर पूछताछ करनी चाहिए।

loading...
शेयर करें