इंडिया के 40 लाख यूजर्स CEO इवान स्पीगल को देंगे गच्चा, अब लेकर चाटते रहें अपना #Snapchat

0

नई दिल्ली। फोटो शेयरिंग मोबाइल सेवा और मल्टीमीडिया मोबाइल ऐप स्नैपचैट के सीईओ इवान स्पीगल ने भारत को गरीब देश बताते हुए कहा कि वह भारत को अपने कारोबार के लिए बड़ा बाजार नहीं मानते हैं। यही वजह है कि स्पीगल भारत या स्पेन जैसे गरीब देशों में अपने कारोबार को बढ़ाने के बारे में नहीं सोचते हैं।

स्नैपचैट के सीईओ

स्नैपचैट के सीईओ इवान स्पीगल का विवादित बयान, भारत को बताया गरीब देश

मीडिया रिपोर्ट्स की गर मानें तो भारत में स्नैपचैट के करीब 40 लाख से ज्यादा यूजर्स मौजूद हैं। ऐसे में इंडिया को गरीब देश बोलने वाले स्नैपचैट के सीईओ को भारत बड़ा झटका दे सकता है। इस मामले के बादल भारत में स्नैपचैट के यूजर्स इस ऐप को अनइंस्टॉल भी कर सकते हैं। ये बात तब सामने आई जब एंथोनी पांप्लिआना नाम के कर्मचारी ने लॉस एंजिलस डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में स्नैपचैट के खिलाफ मुकदमा दायर किया।

एंथोनी का कहना है कि स्पीगल ने 2015 में स्नैपचैट की ग्रोथ बढ़ा चढ़ा कर पेश की थी। एंथनी ने आरोप लगाया है कि 2015 में स्नैपचैट का आईपीओ आने से पहले कंपनी की ग्रोथ के बारे में कई गलत जानकारियां दी गई थी। आईपीओ के लेकर हुई बैठक में ही स्पीगल ने भारत और स्पेन को गरीब देश बताया था। दरअसल उस बैठक में एंथनी ने जब भारत में इंटरनेट की तेज पहुंच पर भी ऐप की स्लो ग्रोथ पर सवाल किया तो इवान ने उन्हें रोकते हुए कहा कि यह ऐप सिर्फ अमीर लोगों के लिए है, भारत जैसे गरीब देश के लिए नहीं।

https://twitter.com/bhavana856/status/853438926136123395?ref_src=twsrc%5Etfw&ref_url=https%3A%2F%2Fhindi.thequint.com%2Fbusiness%2F2017%2F04%2F16%2Fex-employee-of-snapchat-alleges-that-company-ceo-thinks-that-snapchat-is-too-rich-for-the-use-of-indian

बाद में एंथोनी को असंतुष्ट कर्मचारी कह कर कंपनी से निकाल दिया गया। भारत को लेकर ऐसे बयान के बाद विराट कोहली, रवींद्र जडेजा और साथ कई यूजर्स ने खासी नाराजगी जाहिर की।

loading...
शेयर करें