IPL
IPL

स्मार्ट सिटी की रेस से देहरादून हुआ आउट

देहरादून। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के टॉप-20 शहरों की घोषणा तो हो गई। लेकिन इन बीस शहरों की रेस से देहरादून बाहर हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्मार्ट सिटी परियोजना के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत टॉप-20 शहरों का चयन किया गया है। गुरुवार को दिल्ली में केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वैंकया नायडू ने स्मार्ट सिटी के प्रथम चरण के टॉप 20 शहरों के नामों की घोषणा की। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी की सहमति के बाद इन शहरों का चयन हुआ है।

ये भी पढ़ें – देहरादून में भी हॉकी के लिए अब अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम

स्मार्ट सिटी 2

स्मार्ट सिटी की घोषणा पर सभी की थी नजर

प्रदेश की जनता की नजर भी केंद्र के इस फैसले पर काफी समय से थी। क्योंकि पहले चरण में चुने गए देशभर के 98 शहरों में दून का नाम भी शामिल ‌था। राज्य सरकार स्मार्ट दून का प्रोजेक्ट तैयार कर केंद्र सरकार को पहले ही भेज चुकी है। प्राथमिक मूल्यांकन में दून समेत 30 से ज्यादा शहरों के प्रोजेक्ट को एक्सीलेंट कैटेगरी में रखा गया था। इसलिए भी दून के नाम की घोषणा की सब बेताबी से प्रतीक्षा कर रहे थे।

प्रथम चरण में शामिल शहर

जयपुर, पुणे, भुवनेश्वर, सूरत, कोच्चि, अहमदाबाद, जबलपुर, विशाखापट्नम, सोलापुर,  दावणगेरे, धवलगिरी, नयी दिल्ली, इंदौर, कोयंबटूर, बेलगाम, उदयपुर, गुवाहाटी, लुधियाना, चेन्नई और भोपाल।

ये भी पढ़ें – देहरादून के भाग्य का फैसला रावत नहीं मोदी करेंगे

स्मार्ट सिटी 3

दून के शामिल न होने पर सियासत शुरु

इस बीच उत्तराखण्ड को टॉप 20 स्मार्ट शहरों में जगह न मिलने के बाद सूबे की सियासत गरमा गई है। तकनीकि खामियों और बारीकियों पर जाने के बजाए अब इस पर सियासत शुरु हो चुकी है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि सरकार की नाकामी और गलती के चलते उत्तराखण्ड को मिलने वाली स्मार्ट सिटी हाथ से फिसल गई। भाजपा ने रावत सरकार पर हमला करते हुए कहा कि सरकार ने मानक पूरे किए बिना ही आधा अधूरा प्रस्ताव तैयार कर केन्द्र को भेजा था। भाजपा नेताओं ने कहा कि प्रदेश सरकार जानती थी कि उसके प्रस्ताव में काफी कमियां हैं इसीलिए पहले दिन से केंद्र सरकार को घेरा जा रहा था। जबकि केंद्र ने टॉप 20 स्मार्ट सिटी की सूची निर्धारित मानकों के आधार पर ही जारी की है। जो शहर इसकी श्रेणी में आने लायक थे उनके प्रस्ताव को ही मंजूरी मिली है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button