स्वतंत्रता दिवस पर छत्तीसगढ़ में सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन के निधन पर गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए छत्तीसगढ़ में सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है आंबेडकर अस्पताल पहुंचे और उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी।

मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री के निर्देश पर सामान्य प्रशासन विभाग ने दोपहर को ही यहां मंत्रालय (महानदी भवन) से प्रदेश में राजकीय शोक का परिपत्र जारी कर दिया था। यह परिपत्र अध्यक्ष राजस्व मंडल सहित राज्य शासन के सभी विभागों, विभागाध्यक्षों, संभागीय कमिश्नरों और जिला कलेक्टरों को भेजा गया है।

परिपत्र के अनुसार, “प्रदेश में 14 अगस्त से 20 अगस्त तक राजकीय शोक रहेगा। इस अवधि में सरकारी भवनों और जहां नियमित रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराये जाते हैं, वहां ध्वज आधे झुके रहेंगे। साथ ही सरकारी स्तर पर कोई मनोरंजन अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जाएंगे। राज्यपाल के निधन पर 14 अगस्त को प्रदेश सरकार के सभी कार्यालय बंद रखे जाएंगे। राजकीय शोक की अवधि में 15 अगस्त का दिन भी शामिल है, लेकिन राष्ट्रीय पर्व को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने 15 अगस्त को परम्परागत रूप से मनाने का निर्णय लिया है।”

परिपत्र में कहा गया है कि 15 अगस्त को राष्ट्रीय ध्वज आधा नहीं झुकाया जाएगा और सभी जिलों में सार्वजनिक ध्वजारोहण समारोह में मुख्य अतिथियों की ओर से ध्वजारोहण किया जाएगा। राष्ट्रीय धुन भी होगी और परेड से सलामी ली जाएगी। परेड निरीक्षण और मार्चपास्ट भी होगा।

परिपत्र के अनुसार, मुख्यमंत्री राज्य की जनता के नाम संदेश पढ़ेंगे, लेकिन पुरस्कार वितरण, सम्मान समारोह और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं होंगे। परिपत्र में यह भी बताया गया है कि 15 अगस्त की शाम कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे।

Related Articles