स्वाद में कड़वा होने के बावजूद करेला इन बीमारियों की कर सकता है जड़ से ख़त्म

करेले को खाना बहूत कम लोग पसंद करते हैं. ऐसे में स्वाद में कड़वा होने के बावजूद करेला औषधीय गुणों से भरपूर है. वहीं वास्तव में, इसके कड़वेपन में इसके औषधीय गुण छिपे हुए हैं और आज हम आपको बताने जा रहे हैं करेले को खाने या करेले के जूस पीने के फायदे के बारे में. आप नहीं जानते होंगे लेकिन डायबिटीज के मरीज जिनका ब्लड शुगर लेवल दवा से नियंत्रित नहीं होता उन्हें करेले का जूस पीना चाहिए. आइए जानते हैं इसे कैसे बना सकते हैं और इसके क्या-क्या लाभ होते हैं.

करेले का रस – 
संतरे का रस – 1 कप
नींबू का रस – 1 चम्मच
काला नमक – 1 बड़ा चम्मच
इमली पेस्ट – 1 चम्मच
जीरा पाउडर – 1 चम्मच

विधि-  इसके लिए करेले पर थोड़ा सा सफेद नमक लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें. अब करेले को धो लें और पीस लें, संतरे का रस मिला लें. इसके बाद जूसर में पीसने के बाद, रस को एक गिलास में निचोड़ लें. अब नींबू का रस, काला नमक और इमली का पेस्ट डालें और अच्छी तरह से हिलाएं और इस रस को सुबह खाली पेट लें. इससे लाभ होगा.

* जी दरअसल करेले में शरीर के अतिरिक्त वसा को कम करने का गुण होता है. इसी के साथ करेला शरीर में इंसुलिन को सक्रिय करता है, जिससे शरीर में पैदा होने वाली चीनी वसा का रूप नहीं ले पाती है. वैसे चाहे आप इसे सीधे खाएं या इसे जूस के रूप में पियें, इससे आपके शरीर को बड़े लाभ हो सकते हैं.

 आंखों के लिए फायदेमंद – करेले में मौजूद बीटा कैरोटीन आंखों के लिए फायदेमंद माना जाता है. जी दरअसल टीवी स्क्रीन पर काम करने वाले व्यक्ति को करेले का सेवन करना चाहिए या सप्ताह में दो बार इसका जूस पीना चाहिए. वहीं बच्चों को करेला भी खाना चाहिए क्योंकि इससे उनकी याददाश्त और उनकी आंखें दोनों मजबूत होंगी. वहीं करेले का जूस जवां दिखने में भी मदद करता है.

Related Articles