मायावती के इशारे पर ही होती है वसूली

0

लखनऊ। बसपा सुप्रीमों मायावती ने बड़ी कार्रवाई करते हुए दिग्गज नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे अफजल सिद्दीकी को पार्टी से बाहर निकाल दिया। इस मामले में बोलते हुए पूर्व बीएसपी नेता और बीजेपी सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि किसी को पार्टी से निकाल देने से क्या फर्क पड़ेगा वसूली तो मायावती के ईशारे पर होती है।

स्वामी प्रसाद मौर्या

स्वामी प्रसाद मौर्या ने मायावती पर लगाये कई गंभीर आरोप

स्वामी प्रसाद मौर्या मायावती पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने तो बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर के मिशन को बेच डाला है। पार्टी में सिर्फ मायावती के ही इशारे पर वसूली होती है। पार्टी से किसी को भी निकालने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

गौरतलब है कि बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कहा कि सिद्दीकी ने पश्चिमी यूपी में बेनामी संपत्ति बनाई और अवैध बूचड़खाने भी चला रहे थे। उन्होंने पार्टी के नाम पर अवैध वसूली करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि सिद्दीकी और उनके बेटे को पार्टी के सभी पदों से बर्खास्त करने के साथ-साथ उन्हें पार्टी से निकालने का फैसला किया गया है।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनावों में करारी हार के बाद बहुजन समाजपार्टी में कई तरह के बदलाव किये जा रहें हैं। इसी कड़ी में हाल ही में नसीमुद्दीन सिद्दीकी का कद छोटा कर दिया गया था। हालांकि पहले नसीमुद्दीन सिद्दीकी की गिनती बीएसपी के कद्दावर नेताओं में होती थी। अल्पसंख्यक तबके में उनका ही सिक्का चलता था। पार्टी के मजबूत पिलर के रूप में जाने वाले नसीमुद्दीन की आज छुट्टी कर दी गयी है।

loading...
शेयर करें