स्वामी प्रसाद मौर्य ने बसपा के खिलाफ फूंका बिगुल, तय करेंगे रणनीति

0

लखनऊ। यूपी में राजनीति की सियासी गर्माहट बसपा से बागी विधायक स्वामी प्रसाद मौर्य के इर्द-गिर्द घूम रही है। शुक्रवार को मौर्य ने बसपा के खिलाफ बिगुल फूंका। कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन सीएमएस गोमती नगर विस्तार (शहीद पथ) में किया गया। इस कार्यक्रम में मौर्य के साथ पिछड़ा वर्ग के कई नेता भी मौजूद हैं। इनमें से अधिकांश वह हैं जिनको बहुजन समाज पार्टी से टिकट नहीं मिला या उनको पार्टी से बाहर किया गया है।

स्वामी प्रसाद मौर्य

इस कार्यकर्ता सम्मेलन में करीब 7 हजार कार्यकर्ताओं की भीड़ रही। इसमें कई पूर्व प्रत्याशी, जिला पंचायत सदस्य, पूर्व मंत्री भगवती प्रसाद, कोआपरेटिव सदस्य, अध्यक्ष सहित कई संगठनों के पदाधिकारी शामिल रहे। उनकी सभा में पूर्व मंत्री दद्दू प्रसाद, पूर्व मंत्री भगवती प्रसाद सागर, पूर्व मंत्री योगीराज, पूर्व विधायक अजय यादव, छोटेलाल, रवीन्द्रनाथ तिवारी, ताविष खान, परमात्मा प्रसाद सिंह, युवा लोकदल के प्रदेश महासचिव रितेश, समानता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोतीलाल सहित कई संगठन के पदाधिकारी शामिल रहे।

बता दें कि बीते 22 जून को बसपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं नेता विरोधी दल स्वामी प्रसाद मौर्य ने पार्टी सुप्रीमो मायावती पर आरोप लगाते हुए खुद को पार्टी से अलग करने की घोषणा की थी। बसपा में शीर्ष पदों पर लंबी पारी खेल चुके मौर्य के बारे संभावना जतायी जा रही है कि वे भाजपा का दामन थाम सकते है।

हालांकि मौर्य को अपने साथ जोड़ने के लिए कांग्रेस के एक नेता भी लगातार संपर्क बनाये हुए हैं। वही बीते दिन बसपा सुप्रीमो मायावती को दूसरा बड़ा झटका लगा है। बसपा में पासियों के सबसे बड़े नेता माने जाने वाले आरके चौधरी ने मायावती पर टिकट बेचने का इल्‍जाम लगाकर इस्‍तीफा दे दिया। उन्‍होंने कहा कि बीएसपी अब मायावती की रियल एस्‍टेट कंपनी बन गयी है।

loading...
शेयर करें