स‍लविंदर सिंह अब उगलेंगे पठानकोट हमले के राज

0

पंजाब पुलिस के एसपी स‍लविंदर सिंह अब हर वो राज उगलेंगे, जो उन्‍होंने एनअाईए से छुपाए हैं। एक स्थानीय अदालत ने सोमवार को पंजाब पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी सलविंदर सिंह पर लाई-डिटेक्टर परीक्षण करने की इजाजत दे दी। पठानकोट आतंकवादी हमला मामले में सलविंदर सिंह बार-बार अपना बयान बदलते रहे हैं। इसीलिए एनआईए ने उनका लाई डिटेक्‍टर टेस्‍ट करने की अनुमति मांगी थी। इस परीक्षण के जरिए झूठ पकड़ा जाता है।

स‍लविंदर सिंह

स‍लविंदर सिंह पर गहराता शक

सलविंदर के साथ एनआईए का दल जिला न्यायाधीश अमरनाथ की अदालत में आया और उन पर लाई-डिटेक्टर परीक्षण करने के लिए अदालत की अनुमति लेने के इरादे से आवेदन दाखिल किया।सुनवाई के दौरान एनआईए ने जज को बताया गया कि पूछताछ के दौरान सलविंदर के बयानों में फर्क मिला है, इसलिए परीक्षण करने की अनुमति दी जा सकती है। इसके बाद न्‍यायाधीश ने लाई डिटेक्‍टर टेस्‍ट की अनुमति दे दी।

अदालत ने एजेंसी को तीन दिन के भीतर लाई-डिटेक्टर परीक्षण कराने का निर्देश दिया। सलविंदर सिंह को पंजाब सशस्त्र पुलिस की 75वीं बटालियन में सहायक कमांडेंट की कमान सौंपी गई थी। जनवरी की शुरुआत में पठानकोट हमले से पहले ही गुरदासपुर के पुलिस अधीक्षक रहे सलविंदर का तबादला कर दिया गया था, लेकिन इसके बाद भी वह गुरदासपुर में जमे थे।

सलविंदर ने कहा था कि 31 दिसंबर और एक जनवरी की दरमियानी रात को पठानकोट वायु सेना स्टेशन में घुसने से पहले आतंकवादियों ने उनकी कार का अपहरण कर लिया था। उन्होंने दावा किया था कि आतंकवादियों ने उनका अपहरण कर लिया था और बाद में छोड़ दिया क्योंकि वे उन्हें पहचाने नहीं थे। लेकिन कार में सवार सलविंदर के दोस्‍त राजेश और रसोइए के बयान उनसे अलग था। इसके बाद से ही एनआईए का सलविंदर पर शक गहराता गया।

 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, एनआईए की पूछताछ में सलविंदर ने कबूल किया है कि ड्रग्स की हर खेप की एवज में उन्हें हीरे की ज्वैलरी मिलती थी। उनका ज्वैलर फ्रेंड राजेश इन डायमंड का टेस्ट कर बताता था कि ज्वैलरी नकली है या असली? एनआईए ने तलाशी के दौरान एक चाइनीज़ वायरलेस सेट उस कार से रिकवर किया है, जिसका इस्तेमाल आतंकियों ने बेस तक जाने के लिए किया था। इस वायरलेस सेट से डाटा डिलीट कर दिया गया है। इस सेट को नेशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन को भेज दिया गया है, ताकि डिलीट किया गया डाटा रिकवर किया जा सके।
loading...
शेयर करें