हनुमान जयंती: बजरंगबली को करना है प्रसन्न तो करें विशेष मंत्र से पूजा

0

नई दिल्‍ली। 11 अप्रैल को पूरे देश में हनुमान जयंती मनाई जाएगी। सभी लोग हनुमानजी की पूजा करेंगे। इसके लिए तमाम तैयारियां की जा रही हैं। ऐसी मान्‍यता है कि कलयुग में हनुमानजी अजर अमर हैं।

हनुमान जयंती

हनुमान जयंती को लेकर मंदिरों में हो रहीं तैयारियां

ऐसा कहा जाता है हनुमान जयंती के दिन हनुमान जी का पूजन करने से अति शुभफल की प्राप्ति होती है और व्यक्ति की समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती है। व्यक्ति को सर्वत्र विजय प्राप्त होती है। देवाधिदेव महादेव के अंशावतारी बजरंगी भोले नाथ के समान भोले तथा अनन्त सूर्य से भी ज्यादा तेज प्रकृति के स्वामी अपने भक्तों को पुत्र के समान प्यार देने वाले है।

हनुमान जयंती पर करें मंत्र से पूजा

भक्तों को बजरंग बली से पवित्र वात्सल्य प्रेम पाने के लिए किसी कठिन व्रत, पूजन या अनुष्ठान की जरूरत नहीं है अपितु निःस्वार्थ प्रेम की ही आवश्यकता है। हनुमान जयंती पर घर को पूर्णतः साफ सुथरा और पवित्र कर पंचमुखी हनुमान जी की प्रतिमा का षोडशोपचार या पंचोपचार से पूजन करना चाहिए।

विशेष मंत्र से हनुमानजी से होते हैं प्रसन्‍न

हनुमान जी के किसी भी एक मन्त्र का जप करें या सुयोग्य ब्राह्मणों से जप कराएं। इस दिन हरि कीर्तन, श्री अखण्ड रामायण, सुंदरकांड का पाठ कराना सबसे उत्तम होता है। अगर यह भी सम्भव न हो तो हनुमान चालीसा का यथा सम्भव पाठ करें। किसी कठिन अनुष्ठान व्रत या संकल्प न कर पाने की हीनता महसूस न करें ,आपका छोटा अनुष्ठान या श्रद्धा भाव से समर्पण भी आपको श्री राम प्रभु के प्यारे बजरंगी का अक्षय आशीर्वाद प्राप्त होगा और सभी अरिष्टों से मुक्ति मिलेगी।

मंगल दोष से मिलती है मुक्ति

कुण्डली में व्याप्त मंगल दोष सहित शनि दोष, राहु-केतु, सूर्य दोष सभी की शांति होती है और शुभफल प्राप्त होता है। महिलाएं भी अक्षय पुण्य की प्राप्ति हेतु पूजन कर सकती है, विद्यार्थियों को उत्तम विद्या की प्राप्ति भी हनुमान जी के पूजन से प्राप्त होती है।

loading...
शेयर करें