हवाई सफर करने वालों के लिए खुशखबरी, अब उड़ान में देरी या फ्लाइट कैंसिल हुई तो मिलेगी मोटी रकम

0

नई दिल्ली। हवाई सफर करने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। अब अगर आपकी फ्लाइट कैंसिल होती है या फिर उड़ान में देरी होती है तो आपको इसका अच्छा- खासा मुआवजा मिलेगा। केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय ने यह सिफारिश की है। लेकिन एयरलाइन कंपनियां इस बात के खिलाफ हैं।

फ्लाइट कैंसिल

विमानन नियामक डीजीसीए (नागरिक उड्डयन निदेशालय) ने यात्रियों की दिक्कत को ध्यान में रखकर एक सख्त प्रस्ताव तैयार किया है। इसमें हवाई यात्रियों के अधिकारों और जिम्मेदारियों की पूरी फहरीस्त है। नियामक का कहना है कि एयरलाइन की देरी से यात्रियों की कनेक्टिंग फ्लाइट छूटने की घटनाएं आम हो चली हैं इसलिए इस पर अंकुश जरूरी है। हालांकि मुआवजा तभी मिलेगा। हालांकि, मुआवजा उस यात्री को भी मिलेगा अगर वह फ्लाइट निरस्त होने के कारण अपनी ऑनवर्ड फ्लाइट नहीं पकड़ पाता। नए आदेश के मुताबिक अगर किसी पैसेंजर को टिकट होने के बावजूद प्लेन में सवार होने नहीं दिया जाता है तो एयरलाइन को उसे 5000 रुपए का मुआवजा देना होगा। कई बार फ्लाइट ओवरबुक होने पर पैसेंजर को बोर्डिंग की इजाजत नहीं दी जाती।

एयरलाइन कंपनियों का कहना है कि भारत में घरेलू उड़ानों का किराया पहले से ही बहुत कम है। कंपनियों ने चेतावनी दी है कि अगर ये मसौदा आता है तो घरेलू उड़ानों के किराये में भी बढ़ोतरी होगी।

जेट एयरवेज, इंडिगो, स्पाइसजेट और गोएयर को संरक्षण देने वाले द फेडरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइन्स ने मंत्रालय को लिखा है कि हमारा सुझाव है कि मौजूदा नियम और मुआवजे का स्तर पहले से ही उचित और पर्याप्त तरीके से यात्री हितों की रक्षा करते हैं। अगर मुआवजे में बढ़ोतरी की जाती है तो इससे यात्री किराया भी बढ़ेगा।

 

loading...
शेयर करें