रावत के अरमानों पर फिरा पानी, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि…

0

हाईकोर्टदेहरादून। सुप्रीम कोर्ट ने उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन हटाने के नैनीताल हाईकोर्ट के फैसले पर रोक को जारी रखने का फैसला किया है। साथ ही 29 अप्रैल को विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट पर भी रोक को बरकरार रखा है।

हाईकोर्ट के फैसले पर रोक जारी

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तराखंड मामले में विस्तृत सुनवाई का निर्णय लिया है। हाईकोर्ट ने राज्य में लगाए गए राष्ट्रपति शासन पर रोक लगा दी थी और रावत सरकार को बहाल करने के लिए निर्णय लिया था। सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने कहा कि सवाल यह है कि क्या विधानसभा की कार्यवाही के आधार पर केंद्रीय कैबिनेट उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर सकता है?

हाईकोर्ट को चुनौती देने वाली याचिका पर 13 मई को होगा फैसला

पीठ ने कहा कि आखिरकार फ्लोर टेस्ट ही अंतिम हल है। इस मामले पर विस्तृत सुनवाई करने का फैसला लेते हुए उसने सात प्रश्न उठाए हैं। पीठ ने सुनवाई के लिए तीन, चार और पांच मई की तारीख तय करते हुए कहा कि हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर 13 मई तक फैसला आ जाएगा। अटॉर्नी जनरल ने एक बार फिर अदालत को यह सुनिश्चित किया है कि बिना अदालत की अनुमति के राष्ट्रपति शासन को नहीं हटाया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाना एक दुर्लभ कार्रवाई है। अगर सरकार अल्पमत में हो तो फ्लोर टेस्ट ही अंतिम समाधान है। पीठ ने कहा कि अगर हम राष्ट्रपति शासन को सही भी ठहराते हैं तो फ्लोर टेस्ट ही होगा।

वहीं मोदी सरकार की ओर से पेश अटॉर्नी जनरल ने कहा कि धन विधेयक अगर विधानसभा में पारित नहीं हो पाता तो साफ है कि सरकार के पास बहुमत नहीं है। जवाब में पीठ ने कहा कि यहां यह बात महत्वपूर्ण है कि विधानसभा अध्यक्ष इस बात पर अडिग है कि धन विधेयक पारित हो गया है।

हाईकोर्ट के बाद अब सुप्रीम कोर्ट राष्ट्रपति शासन पर करेगा फैसला

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की ओर से पेश सिंघवी और सिब्बल ने कहा कि फ्लोर टेस्ट राष्ट्रपति शासन के आड़े नहीं आना चाहिए। उन्होंने कहा कि फ्लोर टेस्ट ही एकमात्र इसका समाधान है। उन्होंने कहा कि अगर भ्रष्टाचार ही राष्ट्रपति शासन लगाने का आधार हो तो हर राज्य सरकार को खत्म कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह बेहद दुख की बात है कि दिल्ली की सरकार यह तय कर रही है कि विधानसभा में विधेयक सही तरीके से पारित नहीं हुआ।

 

loading...
शेयर करें