तो इस बात को लेकर बेहद चिंतित हैं हुमा कुरैशी

0

मुंबई। देश के मौजूदा हालत पर ऐक्ट्रेस हुमा कुरैशी चिंतित हैं। हुमा का कहना है कि देश में कुछ ऐसे लोग हैं जो विचारधारा और खान-पान की आदतों को लेकर बांटने का काम कर रहे है। उनका कहना था कि ऐसे लोगों को मेडिकल हेल्प की जरुरत होती।

हुमा कुरैशी

हुमा कुरैशी ने कहा कि देश के हालात चिंताजनक, बांटने में लगे कुछ लोग

मीडिया से बात करते हुए हुमा ने कहा कि उन्होंने कुछ लोगों को देखा है जो अन्य लोगों को उनकी भिन्न विचारधारा के आधार पर और मांस खाने को लेकर जज कर रहे है। उन्होंने कहा कि यह दुखद बात है। हकीकत में हमने ऐसा नहीं सीखा है। बेहद दुखदायी है ऐसे लोगों को मेडिकल हेल्प की जरुरत है।

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि किसी को भगवान, धर्म, देश या राष्ट्रीय विचार के आधार पर बांटना चाहिए। इसे हमेशा एकजुट रखना चाहिए। आपको संगीत, कविता, नृत्य और खान-पान जैसी चीजों पर एकजुट रहना चाहिए।  उन्होंने कहा कि वह एक बहुत ही धर्मनिरपेक्ष माहौल में बड़ी हुई है और समझ नहीं पा रही है कि लोग ऐसे  ‘चरमपंथ’  को कैसे देख पा रहे है।”

हुमा ने बताया कि मैं एक बहुत ही धर्मनिरपेक्ष माहौल में बड़ी हुई हूं। हालांकि मैं एक मुस्लिम के घर पैदा हई और बड़ी हुई लेकिन मैंने जनमाष्टमी के अवसर पर अपने स्कूल और कॉलोनी में आयोजित होने वाले कार्यक्मों में कृष्ण की भूमिका निभायी है। हम दीवाली होली और ईद समान उल्लास के साथ मनाते रहे है। वह अपनी आगामी फिल्म विभाजन : 1947  के ट्रेलर लांच के अवसर पर बोल रही थी।

loading...
शेयर करें